न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूरोप व अमेरिका की तुलना में पांच गुना अधिक ब्लैक कार्बन की जद में दिल्लीवासी

520

London : एक नए शोध में पता चला है कि दिल्ली में कार से यात्रा करने वाले यूरोप और अमेरिका की तुलना में पांच गुना अधिक ब्लैक कार्बन की जद में आते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार एशिया में कम आय और मध्य आय वाले देशों में समय पूर्व मौतों के 88 प्रतिशत मामलों के लिए वायु प्रदूषण को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- नियमावली में त्रुटि ने बर्बाद कर दिये स्टूडेंट्स के दो साल के साथ 11 करोड़ 80 लाख, कई की उम्र भी लैप्स

सघनता के स्तरों और प्रदूषण के खतरे का किया अध्ययन 

इसमें कहा गया है कि बीजिंग में वर्ष 2000 में वाहनों की संख्या 15 लाख थी जो 2014 में बढ़ कर 50 लाख से अधिक हो गई. वहीं दिल्ली में 2010 में वाहनों की संख्या 47 लाख थी जिसके 2030 में दो करोड़ 56 लाख पर पहुंचने का अनुमान है. एटमॉस्फियरिक इन्वायरमेंट जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक शोधकर्ताओं ने एशियाई परिवहन माध्यमों (पैदल चलने , कार चलाने , मोटसाइकिल चलाने व बस में यात्रा) में सघनता के स्तरों और प्रदूषण के खतरे का अध्ययन किया.

इसे भी पढ़ें-  कांग्रेस नेता डॉ तौसीफ का आरोप- सरकार ने हज कमिटी में कई वैसे लोगों को शामिल किया, जिन्हें हज की कोई विशेष जानकारी ही नहीं

पैदल चलने वाले लोग 1.6 गुना व कार चलाने वाले लोग नौ गुना अधिक प्रदूषण की जद में

इस अध्ययन में सामने आया कि एशियाई देशों में भीड़-भाड़ वाली सड़कों पर पैदल चलने वाले लोग यूरोप और अमेरिकी देशों के लोगों की तुलना में 1.6 गुना अधिक महीन कणों की जद में होते हैं. वहीं एशिया में कार चलाने वाले यूरोप और अमेरिका के लोगों की तुलना में नौ गुना अधिक प्रदूषण की जद में होते हैं. सूर्रे विश्विद्यालय के ग्लोबल सेंटर फॉर क्लीन एयर रिसर्च के निदेशक प्रशांत कुमार ने कहा कि शोध के क्षेत्र में खतरे के जद में आने की उपलब्ध सूचनाओं के बीच तुलना करने में सावधानी बरतनी पड़ेगी क्योंकि विभिन्न अध्ययनों से अलग अलग सूचनाएं सामने आई हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: