न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इंडिया टुडे ग्रुप समेत पांच संगठन करेंगे फर्जी खबरों की पहचान, फेसबुक ने सौंपी जिम्मेवारी

650

New Delhi: फेसबुक ने देश में आम चुनाव से पहले फर्जी खबरों पर लगाम लगाने की मुहिम के तहत इंडिया टुडे समूह, फैक्टली तथा फैक्ट क्रीसेंडो समेत पांच नये भागीदार बनाये हैं. इससे पहले फेसबुक बूम और समाचार एजेंसी एएफपी के साथ भी करार कर चुकी है. कंपनी ने जारी बयान में कहा कि ये भागीदारियां तृतीय पक्ष तथ्य जांच कार्यक्रम के तहत की गयी हैं. तीसरे पक्ष के ये संगठन फेसबुक पर पोस्ट, तस्वीर या वीडियो के माध्यम से परोसी जा रही गलत एवं भ्रामक सामग्रियों की समीक्षा करेंगी.

फेसबुक के न्यूज स्टोरीज की करेंगे समीक्षा

फेसबुक ने कहा, ‘आज से इंडिया टुडे समूह, विश्वास डॉट न्यूज, फैक्टली, न्यूज मोबाइल और फैक्ट क्रीसेंडो तथ्यों की परख के लिये फेसबुक के न्यूज स्टोरीज की समीक्षा करेंगे उनके सही होने की रेटिंग देंगे.’ उसने कहा कि यह समीक्षा अंग्रेजी, हिंदी, बंगाली, तेलुगु, मलयालम और मराठी भाषा की सामग्रियों के लिये की जाएगी.

hosp3

फेसबुक ने कहा कि तथ्यों की परख करने वाले ये संगठन जब किसी स्टोरी को फर्जी बता देंगे, तब उक्त स्टोरी का न्यूज फीड में प्रसार स्वत: कम हो जाएगा. बार-बार फर्जी खबर देने वाले फेसबुक पेज और डोमेन को विज्ञापन पाने और पैसे कमाने की श्रेणी से भी निकाल दिया जाएगा. फेसबुक ने कहा कि इस तरीके से उसे फर्जी खबरों का न्यूज फीड में प्रसार 80 प्रतिशत तक कम करने में सफलता मिली है.

इसे भी पढ़ेंः हाल-ए-संतालः दो किमी पथरीली पगडंडी पर पैर हो जाते लहूलुहान, तब नसीब होता है दो घूंट पानी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: