न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बालाकोट एयर स्ट्राइक के पांच बहादुर पायलट वायुसेना मेडल से सम्मानित किये जायेंगे

विंग कमांडर अमित रंजन, स्क्वॉड्रन लीडर्स राहुल बोसाया, पंकज भुजडे, बीकेएन रेड्डी और शशांक सिंह को बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर हमले के लिए वायु सेना मेडल से सम्मानित होंगे.

32

NewDelhi : बालाकोट एयर स्ट्राइक को अंजाम देने वाले वायुसेना के पांच पायलटों को स्वतंत्रता दिवस पर वायुसेना मेडल से सम्मानित किया जायेगा.  खबरों के अनुसार मिराज 2000 लड़ाकू विमान के पायलट  विंग कमांडर अमित रंजन, स्क्वॉड्रन लीडर्स राहुल बोसाया, पंकज भुजडे, बीकेएन रेड्डी और शशांक सिंह को बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर हमले के लिए वायु सेना मेडल से सम्मानित होंगे.

जान लें कि बालाकोट एयर स्ट्राइक  के बाद पाकिस्तान के F-16 विमान को मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को वीर चक्र और स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल को युद्ध सेवा मेडल से सम्मानित किया जा रहा है.

जैश के ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया

मिराज 2000 लड़ाकू विमान के इन पायलटों ने  पाकिस्तान के बालाकोट में सटीकता के साथ जैश के ठिकानों पर हमला किया और उसे नेस्तनाबूद कर दिया.  सभी बहादुर पायलट दुश्मन को नुकसान पहुंचाकर सुरक्षित भारतीय सीमा में लौट आये थे. बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद  अभिनंदन ने सीमा पर  डॉगफाइट में पाकिस्तान के अत्याधुनिक F-16 विमान को मार गिराया था.  अभिनंदन ने मिग-21 बाइसन उड़ा रहे थे,  अभिनंदन के इस साहस की हर तरफ चर्चा हुई थी ,क्योंकि F-16 विमान मिग-21 की तुलना में बेहद उन्नत और शक्तिशाली था.

इसे भी पढ़ें – मंदी में इकोनॉमी, रोज बेरोजगार होते हजारों लोग और हम बना दिये गये 370+ve व 370-ve

Related Posts

मोदी सरकार खुफिया अफसरों के माध्यम से  महबूबा मुफ्ती  और उमर अब्दुल्ला का रुख भांप रही है!

केंद्र सरकार  घाटी में शांति और सद्भाव स्थापित करने के मकसद से राज्य दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को साधने की कोशिश में जुटी है.

SMILE

स्क्वॉड्रन लीडर  मिंटी अग्रवाल को युद्ध सेवा मेडल

इस क्रम में  स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल को युद्ध सेवा मेडल प्रदान किया जायेगा.  मिंटी को यह पुरस्कार बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हवाई संघर्ष के दौरान दिये गये  उनके योगदान के लिए दिया गया है।. युद्ध में विजय सीमा पर डटकर लड़नेवाले सिपाहियों के साथ नेपथ्य में भूमिका निभानेवाले कुछ गुमनाम चेहरों की बदौलत होती है.

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने भी नेपथ्य में रहकर विकट परिस्थितियों में गजब सूझबूझ दिखाई थी और विंग कमांडर अभिनंदन का बखूबी साथ दिया.  बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने जब भारत पर बदले की नीयत से हमले की कोशिश की।. उसे एयरफोर्स ने बखूबी नाकाम किया था.  भारतीय पायलटों ने पड़ोसी देश के जेट्स को बॉर्डर पार तक खदेड़ा.

इसे भी पढ़ें– 370 हटानेपरबोलेकश्मीरी : हमेंबंदीबनाकर, सिरपरबंदूकतानकरआवाजघोंटकरमुंहमेंजबरनकुछठूंसनेजैसाहै

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: