न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फिच रेटिंग्स ने रिजर्व बैंक की स्वायत्तता व मजबूत बैलेंस शीट की वकालत की

केंद्रीय बैंक के पास स्वायत्तता होनी चाहिए. यह विचार रेटिंग एजेंसी फिच रेटिंग्स के हैं. बता दें कि फिच रेटिंग्स ने रिजर्व बैंक के लिए मजबूत बैलेंस शीट की वकालत की है.

6

 NewDelhi : केंद्रीय बैंक के पास स्वायत्तता होनी चाहिए. यह विचार रेटिंग एजेंसी फिच रेटिंग्स के हैं. बता दें कि फिच रेटिंग्स ने रिजर्व बैंक के लिए मजबूत बैलेंस शीट की वकालत की है. इस क्रम में कहा है कि केंद्रीय बैंक की स्वतंत्रता और विश्वसनीयता बनाये रखने के लिए यह जरूरी है. रिजर्व बैंक के निदेशक मंडल ने केंद्रीय बैंक की पूंजी की रूपरेखा तय करने के लिए एक विशेषज्ञ समिति बनाने का निर्णय लिया है. वर्तमान में रिजर्व बैंक के पास 9.69 लाख करोड़ रुपए का आरक्षित पूंजी का भंडार है. चर्चा है कि सरकार इस आरक्षित कोष में कमी की मांग कर रही है. इस सबंध में फिच रेटिंग्स के निदेशक (स्वायत्त रेटिंग्स) थॉमस रूकमाकर ने कहा, मजबूत बैलेंस शीट सामान्य रूप से केंद्रीय बैंक की स्वतंत्रता और नीतिगत विश्वसनीयता का समर्थन करती है.

रिजर्व बैंक के पास कितना आरक्षित कोष होना चाहिए

उन्होंने यह नहीं बताया कि रिजर्व बैंक के पास कितना आरक्षित कोष होना चाहिए. फिच रेटिंग्स के निदेशक (वित्तीय संस्थान) शाश्वत गुहा ने सरकार और रिजर्व बैंक की खींचतान के बारे में कहा कि दुनिया भर में केंद्रीय बैंकों और सरकारों के बीच में तनाव होता रहा है. कहा कि केंद्रीय बैंकों और प्राधिकरणों के बीच खींचतान में कुछ भी नया नहीं है. गुहा  के अनुसारकेंद्रीय बैंक के पास स्वायत्तता होनी चाहिए और इस बात के कोई सबूत नहीं है कि रिजर्व बैंक की स्वायत्तता में कोई खलल डाला गया है.

silk_park

इसे भी पढ़ें : नोटबंदी उच्च वर्ग के नहीं, भ्रष्ट लोगों के खिलाफ थी  : नीति आयोग उपाध्यक्ष

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: