न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पहले कही दूर तक साथ चलने की बात, फिर खुद डॉ अजय कुमार ने ही दिया अध्य‍क्ष पद से इस्तीफा

न्यूज विंग से बातचीत में हार की नैतिक जिम्मेवारी ली

921

Ranchi : अपने कार्यकर्ताओं को बहुत दूर तक साथ चलने की बात कहने वाले झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने यह इस्तीफा लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली करारी हार के बाद दिया है.

न्यूज विंग से बातचीत में डॉ अजय ने इस्तीफे की पुष्टी की और कहा कि 24 मई को ही मैंने हार की नैतिक जिम्मेवारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया था. हालांकि मीडिया में यह बात अभी आयी है. डॉ अजय कुमार ने झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह को अपना इस्तीफा भेजा है.

इसे भी पढें – अंधविश्वास का अंधेरा : नौ पुरुषों का सिर मुड़ा, महिलाओं के काटे नाखुन, परामर्श केंद्र से न्याय की…

कार्यकर्ताओं को साथ चलने की कही थी बात

ट्विटर पर किया गया पोस्ट

अजय कुमार के इस्तीफे को लेकर आश्चर्य की बात तो यह है कि, 24 मई को प्रदेश अध्यक्ष ने खुद  एक कार्यकर्ता के इस्तीफा देने पर समझाया था. उन्होंने ट्विटर पर ही कार्यकर्ता से कहा था कि अभी तो बहुत दूर तक साथ चलना है. लेकिन खुद उसी दिन डॉ अजय कुमार ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

दरअसल 24 मई को पार्टी के झारखंड स्टेट वोलेंटियर कॉर्डिनेशन पद संजय श्रीवास्तव नाम के एक कार्यकर्ता ने ट्विट करके अपने पद से इस्तीफा दे दिया था और उसे स्वीकार करने की बात कही थी.

Related Posts

भाजपा शासनकाल में एक भी उद्योग नहीं लगा, नौकरी के लिए दर दर भटक रहे हैं युवा : अरुप चटर्जी

चिरकुंडा स्थित यंग स्टार क्लब परिसर में रविवार को अलग मासस और युवा मोर्चा का मिलन समारोह हुआ.

SMILE

इस पर डॉ अजय कुमार उन्होंने ट्वीटर पर ही कहा था कि संजय जी, अभी तक बहुत दूर साथ चलना है. लेकिन उसी दिन डॉ अजय ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

एक सीट पर सिमट गयी थी पार्टी

गौरतलब है कि, लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद प्रदेश अध्यक्ष ने अपने पद से इस्तीफा दिया है. इस चुनान में महागठबंधन पूरी तरह से फेल हो गया. महागठबंधन 14 में से केवल 2 सीट ही जीत पायी.

जिसमें से एक सीट कांग्रेस और एक सीट पर जेएमएम ने जीत दर्ज की. बाकी सभी 12 सीटों पर एनडीए ने कब्जा जमाया. हार के बाद पार्टी कार्यकर्ता लगातार प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ अपनी नाराजगी जताने लगे हैं.

इसे भी पढ़ें – बेहाल है राज्य का सबसे बड़ा अस्पताल रिम्स, अब तो आईसीयू को भी खुद ऑक्सीजन की जरूरत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: