न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सावन की पहली सोमवारीः भगवा रंग में रंगा देवघर, कांवरियों की भारी भीड़

सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस-प्रशासन चौकस

846

Deoghar: आज श्रावण मास की पहली सोमवारी है. पहली सोमवारी पर भक्त बाबा भोले को मनाने के लिए मंदिरों में उमड़ पड़े हैं. वही देवघर का विश्व प्रसिद्ध बाबा बैद्यनाथ का मंदिर केसरिया रंग में रंग चुका है. उम्मीद है कि रिकॉर्ड संख्या में कावंरिया पहली सोमवार को बाबा का जलाभिषेक करेंगे. इस दौरान सुरक्षा की भी पुख्ता व्यवस्था की गई है.

इसे भी पढ़ेंः@dasraghubar पर ट्वीट कर परेशानी बतायें कांवरिया, तुंरत होगा निदान : वर्णवाल

14 किलोमीटर की लम्बी कतार

hosp3

हर-हर महादेव के जयघोष से पूरी बाबा नगरी गूंज रही है. पहली सोमवारी पर भारी संख्या में कांवरिये बाबा पर जल चढ़ाने देवघर पहुंचे है. फिलहाल शहर के भीतर करीब 14 किलोमीटर लंबी कतार है. मंदिर प्रंगण भी कंवरियों से खचाखच भरा है. देखा जाये तो, पहली सोमवारी के दिन ही पूरी बाबा नगरी केसरिया रंग में रंग चुकी है. वही शनिवार और रविवार रात तक करीब दो लाख से ज्यादा कांवरिये बिहार के सुल्तानगंज में उत्तरवाहिनि गंगा से जल भरकर बाबा वैद्यनाथ को जलार्पण करने निकले हैं.
पहली सोमवारी पर बाबा भोले के श्रृंगार के लिए विशेष व्यवस्था की गई है

सुरक्षा के चौक-चौबंद इंतजाम

बाबा भोले के भक्तों की भीड़ को देखते हुए पुलिस-प्रशासन ने भी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की है.
जिला प्रशासन के आलाधिकारी समेत जिले के पुलिस कप्तान खुद रूट लाइनिंग का मुआयना कर रहे हैं. श्रावणी मेले को लेकर राज्य सरकार किसी भी तरह का कोई रिस्क नहीं लेना चाहती है, इसलिए राजकीय मेले को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन से लेकर पुलिस महकमे के तमाम आलाधिकारियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए एटीस, बीडीएस, एनडीआरएफ, रैफ के अलावा भारी तादाद में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. इसके अलावे, हीलियम बैलून कैमरे से नजर रखी जा रही है.

इसे भी पढ़ेंःमुस्लिम लोगों ने धारण किया भगवा वस्त्र, 15 मुसलमानों ने शुरू की कांवड़ यात्रा

सावन सोमवार का विशेष महत्व

मान्यता है कि श्रावण का महीना भगवान शंकर को बहुत प्रिय है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार श्रवण मास शिव आराधना के लिए सर्वोत्तम मास माना जाता है. वैसे तो पूरा श्रावण मास जप,तप और ध्यान के लिए उत्तम होता है, पर इसमें सोमवार का विशेष महत्व है. सोमवार का दिन चन्द्र ग्रह का दिन होता है और चन्द्रमा के नियंत्रक भगवान शिव हैं. अतः इसदिन पूजा करने से न केवल चन्द्रमा बल्कि भगवान शिव की कृपा भी मिल जाती है. माना जाता है कि श्रावण की सोमवारी को पवित्र द्वादश ज्योतिर्लिंग के जलाभिषेक से सभी मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: