DeogharJharkhandLead NewsNEWSWING MEDIA MARKETING INITIATIVESRanchi

झारखंड से मेधा डेयरी उत्पाद पेड़ा की पहली खेप भेजी गई बहरीन

Ranchi/Deoghar: मेधा डेयरी द्वारा उत्पादित पेड़ा की पहली खेप, कोलकाता के एयरपोर्ट से निर्यात किया गया. यह पेड़ा मध्य पूर्व के देश बहरीन भेजा गया है. इस उपलब्धि से प्रदेश के दूध उत्पादक किसानों के बीच हर्ष एवं उल्लास का माहौल है. प्रदेश के दूध उत्पादक किसान सरकार के इस सहयोग से काफी खुश हैं तथा राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार को इस सरहनीय कदम के लिए धन्यवाद दिया.

इस अवसर पर मेधा डेयरी के प्रबंध निदेशक सुधीर कुमार सिंह ने कृषि मंत्री बादल, सचिव कृषि पशुपालन एवं सहकारिता झारखण्ड सरकार, अपेड़ा, राज्य सरकार के अन्य पदाधिकारी, मेधा डेयरी के कर्मचारी तथा प्रदेश के दूध उत्पादक किसानों का धन्यवाद प्रकट किया. श्री सिंह ने कहा की निर्यात की यह पहली खेप मेधा डेयरी के सफलता की राह में एक मील का पत्थर साबित होगा तथा भविष्य मे अन्य डेयरी उत्पाद यथा घी, गुलाबजामुन खीर मिक्स रसगुलला इत्यादि को भी विश्व के अन्य देशों में निर्यात किया जाएगा.

देवघर में फ्लैग ऑफ सेरेमनी

देवघर में बैद्यनाथधाम पेड़ा के निर्यात को लेकर गुरुवार को फ्लैग ऑफ सेरेमनी का ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन किया गया. अपेडा के सेक्रेट्री एंड डिपार्टमेंट हेड डॉ सुधांशु ने कहा कि देवघर का पेड़ा वर्ल्ड वाइड लोगों को काफी पसंद है. आगे उन्होंने कहा कि बाबा नगरी का पेड़ा ग्लोबली इंपोर्ट होने जा रहा है जो कि हमारे लिए बहुत बहुमूल्य और बड़ी सफलता है. पेड़ा-मिठाई में सबसे ही यूनिक प्रोडक्ट है. पहले देवघर में पेड़ा बहुत छोटे स्केल पर स्टेट लेवल पर बनाया जाता था पर अब इंपोर्ट ग्लोबली होने वाला है तो अब लार्ज स्केल में इसको तैयार किया जाएगा. फ्लैग ऑफ कार्यक्रम के दौरान प्रशिक्षु आईएएस अनिमेष रंजन ने कहा कि ऐसे तो किसी भी शहर की कई पहचान होती हैं, लेकिन देवघर बाबा बैद्यनाथ के मंदिर व भोलेनाथ का प्रसाद यहां के पेड़े (प्रसाद) के लिए खासा प्रसिद्ध है. देशभर से बाबा नगरी आने वाले भक्त महाप्रसाद के रूप में पेड़ा अवश्य ही लेकर घर लौटते हैं. आज से देवघर का पेड़ा देश से बाहर विदेश भी भेजा जा रहा है. आज 32  किलो पेड़े का पहला खेप बहरीन भेजा जा रहा है. बाबा का महाप्रसाद हवाई जहाज से बहरीन भेजा जाएगा. पहली खेप हवाई जहाज के माध्यम से देवघर से कोलकाता व कोलकाता से बहरीन भेजा गया. मौके पर महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र सैमरॉम बारला ने कहा कि हम लोग जानते हैं देवघर का पेड़ा देश और विदेश में प्रसिद्ध है. हर साल देवघर में श्रद्धालु लोग देश और विदेश से यहां आते हैं. बाबा बैद्यनाथधाम मंदिर में पूजा अर्चना के लिए और यहां का प्रसाद पेड़ा को ग्रहण करते हैं और ले भी जाते हैं. सावन महीने में तीन से चार गुणा उत्पादन बढ़ जाता है. अब बैद्यनाथ धाम का पेड़ा विदेश जा रहा है, जिससे यहां के पेड़ा उद्योग को और भी बढ़ावा मिलेगा.

मेधा कोऑपरेटिव मिल्क फेडरेशन के जरिए पेड़े का सैंपल भेजा गया था बहरीन

ज्ञात हो कि इसी साल मई में उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्री मंजुनाथ भजंत्री ने मेधा कोऑपरेटिव मिल्क फेडरेशन के जरिए पेड़े का सैंपल बहरीन भेजा था. वहां जांच करने पर गुणवत्ता की तमाम मानकों पर पेड़ा पूरी तरह खरा उतरा. जिसके बाद 20 अक्टूबर को 32 किलो पेड़े की पहली खेप भेजी गई. उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गयी कि देवघर जिला प्रशासन द्वारा बाबाधाम पेड़ा एवं अन्य उत्पादो को अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में प्रमोट करने हेतु व्यापक स्तर पर प्रयास किये जा रहे थे. जिसके तहत वर्तमान में मेधा डेयरी (झारखण्ड कॉपरेटिव मिल्क फेडेरेशन) के पेड़ा को अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में बिक्री हेतु लाइसेंस भी प्राप्त हो चुका है. इसके तहत मेधा डेयरी से प्राप्त पेड़ा के गुणवता के जांचोपरांत बहरीन अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में बिक्री हेतु उपलब्ध भी कराया गया था. उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गई कि विभिन्न स्टेक हॉल्डरों यथा-डीआईसी, एपीईडीए, एसपीसीसीआई, मेधा डेयरी, देवघर जिला प्रशासन के इन्फॉर्मेशन डीवीजन आदि के द्वारा बैठक के माध्यम से पेड़ा के कमर्सियल सिपमेन्ट एवं सप्लाई हेतु लगातार कार्य योजना बनायी जा रही है. क्वालीटी पारामीटर, पैकेजिंग इस्पेसिफिकेशन, लॉजिस्टिक एरेन्जमेन्ट आदि का विशेष ध्यान रखा गया है. अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में पहुंच बनाने हेतु सभी आवश्यक कदम उठाये गये हैं. जिसे आने वाले दिनों में और भी बेहतर किया जायेगा. ज्ञात हो कि पूर्व में उपायुक्त के निर्देशानुसार एक्सपोर्टर, डीआईसी , डीसी सेल और पेड़ा व्यवसायी ने 15 अप्रैल के पहले सारे टेस्ट और अन्य बिंदुओं पर काम करते हुए सैम्पल विदेश भेजा था. आगे मेधा डेयरी (झारखंड को.ओ मिल्क फेडरेशन) ने 2 किलो का सैम्पल एक्सपोर्ट के लिए भेजा. जिसे बहरीन देश के खरीदारों ने पसंद किया. जिसके पश्चात आज बुधवार को 32 किलो की पहली खेप बहरीन भेजा गयी.

कार्यक्रम में उपस्थित अधिकारी

इस दौरान देवघर जिले से प्रशिक्षु आईएएस अनिमेष रंजन, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र सैमरॉम बारला, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी प्रमोद कुमार, सेक्रेटरी एण्ड डिपार्टमेंट अपेडा डॉ सुधांशु, डिप्टी जेनरल मैनेजर अपेडा, विनिता सुधांशु, अध्यक्ष चैम्बर ऑफ संथाल परगना आलोक कुमार मल्लिक, जिला समन्वयक मुख्यमंत्री लघु कुटीर उद्योग नीरज कुमार, प्रबंधक ईज ऑफ डूइंग पियुष कुमार, डीसी सेल के प्रतिनियुक्त पदाधिकारी उषा किरण, रवि पांडेय आदि उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें: भारत जोड़ो पदयात्रा और डिजिटल सदस्यता अभियान पर जोर

Related Articles

Back to top button