Crime NewsJharkhandPalamu

पलामू-चतरा सीमावर्ती जंगल में उग्रवादियों को घेरने गयी पुलिस पर फायरिंग, आठ कांडों का शातिर अपराधी किसलय सिंह गिरफ्तार

 

Palamu : पलामू और चतरा जिले के सीमावर्ती मनातू थाना क्षेत्र के केदल जंगल में उग्रवादी संगठन टीएसपीसी के खिलाफ कार्रवाई करने गयी पुलिस पर जोरदार फायरिंग की गयी. आत्मरक्षार्थ पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की. पुलिस को भारी पड़ता देख उग्रवादी भागने लगे, लेकिन पुलिस के सर्च अभियान में टीएसपीसी उग्रवादी और आठ कांडों का आरोपी किसलय कुमार सिंह को पकड़ने में सफलता हासिल की. उसके पास से एक देसी कट्टा, दो गोली और एक खोखा व पर्चा बरामद किया गया है.

इसे भी पढ़ें :सरायकेला-खरसावां :  बाहरी गृहरक्षक दे रहे हैं सेवा, जिले के चयनित उम्मीदवारों को डेढ़ साल बाद भी नौकरी की आस

Catalyst IAS
ram janam hospital

पलामू के एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बताया कि गुरूवार को गुप्त सूचना मिली थी कि उग्रवादी संगठन टीएसपीसी का जोनल कमांडर शशिकांत अपने दस्ते के साथ मनातू थाना एवं कुन्दा थाना के सीमावर्ती क्षेत्रों में भ्रमणशील है. उसकी मंशा ठेकेदारों से लेवी वसूली है. वह अप्रिय घटना को अंजाम देना है. सूचना पर मनातू थाना प्रभारी पवन कुमार और अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) बिजेन्द्र कुमार मिश्रा के नेतृत्व में अलग अलग टीमें बनायी गयी.
दोनों टीमें मनातू से करीब 3.15 बजे सुबह डुमरी के लिए निकली. वहां से पैदल केदल जंगल की ओर गयी.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

सुबह करीब 4.45 बजे जब दोनों टीम केदल के पूरब में स्थित जंगल की ओर आगे बढी तो कुछ दूरी पर कुछ लोगों की हलचल दिखाई दी. पुलिस की टीम सतर्कता के साथ आगे बढ़ी, तभी टीएसपीसी उग्रवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी. इसपर पुलिस ने भी जबावी फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस की फायरिंग से घबराकर उग्रवादी जंगल की ओर भागने लगे, जिसमें एक उग्रवादी भागने के क्रम में संतुलन बिगड़ने के कारण गिर गया, जिसे पुलिस टीम द्वारा दौड़कर पकड़ लिया गया एवं उसके हाथ में पकड़े हुए देशी कट्टा को छीना गया. पूछताछ के क्रम में उक्त व्यक्ति ने अपना नाम किसलय कुमार सिंह, पिता नरेश सिंह, ग्राम गवही, थाना मनातू बताया. तलाशी लेने पर उसके पास से दो जिन्दा गोली एवं पांच टीएसपीसी संगठन का नारा लिखा हुआ पर्चा बरामद किया गया. घटनास्थल पर तलाशी लेने पर एक खोखा बरामद हुआ.

इसे भी पढ़ें :पलासबनी में गरीब बच्चों के बीच बांटे गए स्कूल बैग

अपराधी से उग्रवादी बना किसलय

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी पर आठ आपराधिक मामले दर्ज हैं. किसलय सिंह अपराधी रहा है. बाद में वह उग्रवादी संगठन में शामिल हो गया. किसलय के खिलाफ सबसे अधिक लेस्लीगंज थाना में चार मामले दर्ज हैं, जबकि सदर-सतबरवा में तीन मामले दर्ज हैं. मनातू में एक आपराधिक मामला दर्ज है. वर्ष 2012 से यह आपराधिक घटनाओं को अंजाम देते आ रहा है. मनातू और सदर में वर्ष 2012 में मामला दर्ज किया गया था.

स्वचालित रायफल चलाने में माहिर है किसलय

गिरफ्तार स्वयंभू एरिया कमांडर किसलय को पलामू जिले के तीन पुलिस थानों में तलाश थी. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि किसलय बचपन से आपराधिक कांड को अंजाम देता आ रहा था. सबसे पहले 26 सितम्बर 2012 को उसने आपराधिक कृत्य अपने गांव गवही (मनातू) में किया था. सिन्हा ने बताया कि यह उग्रवादी पिछले चार साल से टीएसपीसी से जु़ड़ कर उग्रवादी घटनाओं को अंजाम दे रहा था. इस सिलसिले में पहली बार लेस्लीगंज थाना में सात अक्टूबर 2017 को मामला दर्ज हुआ था.

इसे भी पढ़ें :लातेहार में जंगली हाथी ने दो ग्रामीणों को कुचलकर मार डाला, एक माह में छह की मौत

सिन्हा ने बताया कि किसलय स्वचालित रायफल (सेल्फ लोडिंगरायफल -एस एल आर) चलाने में माहिर है. इसने पूछताछ में पुलिस को जानकारी दी है कि टीएसपीसी के दस्ते में आधुनिक हथियार पर्याप्त मात्रा में हैं. इसमें रायफल, सेमी ऑटो गन, बम-बारुद और एके 47 जैसे हथियार हैं.

Related Articles

Back to top button