JharkhandLead NewsNationalNEWS

Gujrat के जनरेशन अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, सारे मरीज सुरक्षित

Gujrat: कोरोना संकट के बीच देश के अस्पतालों में आग लगने का सिलसिला जारी है. अब गुजरात के भावनगर स्थित जनरेशन अस्पताल में आग लग गई है. आग तीसरी मंजिल पर लगी, जहां आईसीयू बेड थे. आग लगने की वजह से अस्पताल में अफरा-तफरी मच गयी. जब आग लगी, उस वक्त आईसीयू में 70 से ज्यादा मरीज एडमिट थे. सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है.

शार्ट सर्किट की वजह से लगी आगः अस्पताल प्रबंधनः

अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि आग शार्ट सर्किट की वजह से लगी. आग लगते ही सभी मरीजों को बाहर निकाल लिया गया है. इस वजह से किसी मरीज की जान नहीं गई है. फिलहाल, मौके पर दमकल विभाग की टीम पहुंच गई और आग पर काबू पाने की कोशिश में जुट गई. कई घंटों की मशक्कत के बाद आग को बुझा लिया गया.

advt

आनन-फानन में मरीजों को बाहर लाया गयाः

जब अस्पताल में आग लगी तो अफरा-तफरी का माहौल हो गया. आनन-फानन में मरीजों को बाहर लाया गया. कई मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे. उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ बाहर लाया गया और तुरंत दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया. जनरेशन अस्पताल की तत्परता से किसी भी मरीज की जान नहीं गई.

इसे भी पढ़ें: महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मौत मामले में क्राइम सीन रीक्रिएट करेगी पुलिस
इससे पहले गुजरात के भरूच शहर के पटेल वेलफेयर हॉस्पिटल में बने कोरोना केयर वार्ड में 30 अप्रैल की रात अचानक आग लग गई थी. देखते ही देखते आग की लपटें आईसीयू वार्ड तक पहुंच गई थी. इस गंभीर हादसे में 14 मरीज और 2 स्टाफ नर्स की मौत हो गई थी. कोरोना वार्ड में करीब 49 मरीज भर्ती थे, जिसमें से 24 मरीज आईसीयू में थे.

भरूच के पटेल वेलफेयर हॉस्पिटल से दो दिन पहले महाराष्ट्र के ठाणे के प्राइम क्रिटिकेअर हॉस्पिटल में आग लग गई थी. आग लगने के बाद आनन-फानन में मरीजों को दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट किया जाने लगा था. इस दौरान चार मरीजों की मौत हो गई थी. इस घटना से कुछ दिन पहले मुंबई से सटे विरार इलाके में विजय वल्लभ कोविड अस्पताल में आग लगने से 14 लोगों की मौत हो गई थी.

इसे भी पढ़ें: Good News: दो माह बाद सक्रिय मामलों में कमी, रोजाना मिलने वाले मरीजों की संख्या में तीसरे दिन भी गिरावट

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: