न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सांसद रामटहल चौधरी पर ST/SC अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज

मामले को राष्ट्रीय जनजाति आयोग तक ले जाया जाएगा.

1,177

Ranchi : बुधवार 12 सितंबर को भाजपा सांसद रामटहल चौधरी के पर sc/st थाना रांची में आदिवासी जन परिषद द्वारा अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार अधिनियम 1989 के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई. आदिवासी जन परिषद रांची जिला अध्यक्ष सिकन्दर मुंडा द्वारा ST/SC अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई. ज्ञात हो की सांसद रामटहल चौधरी ने 12 अगस्त 2018 को एक प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से ओच्छी राजनीतिक मानसिकता का परिचय देते हुए पूरे आदिवासी समाज पर अभद्र टिप्पणी करते हुए समाज को नीचा दिखाने एंव अपमानित करने की पुरजोर कोशिश की थी. इस मामले को लेकर आदिवासी जन परिषद विगत दिनों रांची के अलबर्ट एक्का चौक पर सांसद रामटहल चौधरी का पुतला भी दहन किया था.

इसे भी पढ़े : डीटीओ का आदेश, बच्चों को ऑटो से स्कूल न भेजें, दूसरा एरेंजमेंट करें, अभिभावक हलकान

आदिवासी समाज के मान सम्मान को नीचा दिखाने की कोशिश

hosp3

आज sc/st थाना प्रभारी रांची के समक्ष प्राथमिकता दर्ज कराने के दौरान प्रेम शाही मुंडा ने कहा कि भाजपा के जनप्रतिनिधि जहां तहाँ इस तरह के अन्तर्गत ब्यानबाजी करते नजर आ रहे हैं, जो आदिवासी समाज के मान सम्मान को नीचा दिखाने के साथ कुठाराघात कर रहे हैं. आदिवासी समाज को अपमानित करने वाले जन प्रतिनिधि हो या आम जनता आदिवासी जन परिषद कतई बर्दाश्त नहीं करेगी. मुंडा ने आगे कहा कि मामला यहीं तक सीमित नहीं बल्कि इस मामले को राष्ट्रीय जनजाति आयोग तक ले जाया जाएगा.

इसे भी पढ़े : पलामू : भरी पंचायत में युवक की पीट-पीट कर हत्या

प्राथमिकी दर्ज कराने के दौरान जय सिंह लुखड, रतन लाल सिंह मुंडा, रंजीत उरांव के साथ आदिवासी जन परिषद के अन्य सदस्य भी मौजूद थे.

इसे भी पढ़े : उषा मार्टिन स्टील बिजनेस को खरीदने में टाटा स्टील, जेएसडब्लयू और लिबर्टी हाउस ने दिखायी दिलचस्पी

जाने क्या है पुरा मामला

12 अगस्त 2018 को रांची के सांसद रामटहल चौधरी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि जब एचईसी आयी, तो एससी-एसटी समुदाय के लोगों को पैसा मिला और इन पैसों को उन लोगों ने दारू पीकर उड़ा दिया. ये लोग रोज रेडियो खरीदते थे और तोड़ते थे. वहीं, दूसरे लोगों ने पैसा बचाकर रखा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: