GarhwaJharkhand

गढ़वा एनएच 39 जाम करने वालों पर एफआइआर, 25 नामजद, 100 अज्ञात आये जद में

Garhwa : पलामू प्रमंडल अंतर्गत गढ़वा जिले में गत 23 फरवरी को बाबा साहेब की प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने के बाद घंटों सड़क जाम करने के मामले में बुधवार को प्राथमिकी दर्ज की गयी. गढ़वा प्रखंड विकास पदाधिकारी जागो महतो के आवेदन के आधार पर 25 लोगों के खिलाफ नामजद, जबकि 100 अज्ञात के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गयी है. गौरतबल है कि गत 22-23 फरवरी की रात में गढ़वा के चिनियां मोड़ पर स्थापित बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर की प्रतिमा असमाजिक तत्वों ने क्षतिग्रस्त कर दी थी. अगले दिन भारी संख्या में लोग सड़कों पर आ गये थे और कार्रवाई की मांग को लेकर 10 से 12 घंटे तक रंका मोड़ को जाम कर आंदोलन किया था.

प्राथमिकी में कौन-कौन हैं शामिल

बीडीओ के आवेदन पर बसपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ताहिर अंसारी, बसपा के गढ़वा विस प्रभारी वीरेंद्र साव, झाविमो जिलाध्यक्ष सूरज गुप्ता, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अरविंद तूफानी, भाकपा माले के जिला सचिव कालीचरण मेहता, लोजपा नेता सह खाद्य एवं आपूर्ति मंत्रालय के सदस्य रामजी पासवान, बसपा नेता राजन मेहता, मनोज ठाकुर, आजसू नेता रविंद्रनाथ ठाकुर, भाकपा नेता याकूब इकबाल समेत शिक्षक नेता अशर्फी राम, मुंद्रिका राम, सन्नी चंद्रवंशी, विनय राम, गोपाल राम, श्यामबिहारी राम, विजय राम, शाकीर अंसारी, विनय पाल, रवींद्र पाल के नाम शामिल हैं.

Catalyst IAS
ram janam hospital

सरकारीकर्मियों में इनका नाम भी शामिल

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसके अलावे सरकारीकर्मियों में उत्क्रमित मवि पचफेड़ी के शिक्षक धर्मराज राम, मवि टेढ़ी हरैया के शिक्षक श्रवण राम, मवि टाटीदीरी धुरकी के शिक्षक विनोद राम, उत्क्रमित मवि लखेया के शिक्षक भरत राम, उत्क्रमित मवि गुरदी के शिक्षक संजय राम के नाम शामिल हैं. सभी सड़क जाम करनेवालों पर गढ़वा थाना कांड संख्या 79/2019 के तहत भादवि की धारा 143, 341, 323, 353, 283, 336, 504 लगाया गया है.

दंडाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त थे बीडीओ

बीडीओ जागो महतो ने अपने आवेदन में कहा है कि उन्हें सुबह करीब आठ बजे सूचना प्राप्त हुयी थी कि गढ़वा शहर के सहिजना मोड़ पर डॉ अंबेडकर की स्थापित प्रतिमा के हाथ को असमाजिक तत्वों द्वारा तोड़ दिया गया एवं चेहरे को विकृत कर दिया गया. इस घटना के बाद वहां काफी संख्या में लोग जमा हो गये. इसकी सूचना उन्होंने तत्काल अनुमंडल पदाधिकारी को दी. इसके बाद एसडीओ द्वारा उन्हें दंडाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त करते हुए विधी व्यवस्था संधारण के लिए निर्देशित किया गया.

आंदोलनकारियों ने किया असंसदीय भाष और गाली-गलौज का प्रयोग : बीडीओ

बीडीओ ने आवेदन में कहा है कि जब वे अंबेडकर की प्रतिमा स्थल के पास पहुंचे, तब वहां धर्मराज राम, श्रवण राम, विनोद राम, भरत राम, अशर्फी राम, अरविंद तूफानी के नेतृत्व में भीड़ को उत्तेजित कर एनएच- 39 (पुराना 75) जाम कर दिये. इस दौरान प्रशासन के विरूद्ध असंसदीय भाषा का प्रयोग करते हुये नारेबाजी की गयी. जाम करनेवालों को काफी विनम्रता से समझाया गया और जाम हटाने का आग्रह किया गया. लेकिन उपरोक्त लोगों द्वारा सुबह से शाम 6.30 बजे शाम तक एनएच को जाम रखा गया और गाली-गलौज करते हुए नारेबाजी जारी की गयी.

परीक्षार्थी हुए परेशान, फंसी रही ऐंबुलेंस

सड़क जाम की वजह से कई परीक्षार्थियों को केंद्र तक पहुंचने में परेशानी हुयी. जाम के दौरान ऐंबुलेंस को भी रोक दिया गया और चालक के साथ मारपीट की गयी. आवेदन में कहा गया है कि जाम की वजह से स्कूली छात्र-छात्राएं, दूसरे राज्य के यात्री बस एवं इस रास्ते पर परिवहन करने वाले अन्य यात्रियों व स्थानीय लोगों को परेशान होना पड़ा.

इसे भी पढें : बीआईटी मेसरा का 29वां दीक्षांत समारोह संपन्न, 11 छात्रों को मिला गोल्ड मेडल

Related Articles

Back to top button