BusinessNational

 वित्त मंत्री का आकलन, इस साल देश की जीडीपी ग्रोथ जीरो रहेगी, IMF का है माइनस 10.3 पर्सेंट का अनुमान

वित्त मंत्री ने कहा है कि अप्रैल से अगस्त के दौरान एफडीआई में तेजी देखने को मिली है.  कहा कि इस दौरान एफडीआई में 2019 के मुकाबले 13 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है

NewDelhi : इस वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी ग्रोथ जीरो के आसपास रह सकती है, लेकिन अगले साल देश दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में शामिल रहेगा. यह केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है. बता दें कि एक इवेंट को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री ने मंगलवार को यह बात कही.

हालांकि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने इस साल भारत की जीडीपी ग्रोथ के माइनस 10.3 पर्सेंट रहने का अनुमान जताया है. इससे पहले आईएमएफ ने जून महीने में 4.5 पर्सेंट की गिरावट की ही बात कही थी, लेकिन पहली तिमाही में 23.9 पर्सेंट की गिरावट का आंकड़ा आने के बाद उसने भी इसे बढ़ाते हुए 10.3 फीसदी कर दिया है. जबकि वित्त मंत्री ने भारत की जीडीपी ग्रोथ जीरो बताया.

इसे भी पढ़े : बिहार  चुनाव : 71 सीटों पर वोटिंग शुरू, मोदी की अपील… कोरोना गाइडलाइन को ध्यान में रख कर डालें वोट

भारत दुनिया की तेजी से ग्रोथ करती अर्थव्यवस्थाओं में  शामिल था

पिछले कुछ सालों में भारत दुनिया की तेजी से ग्रोथ करती अर्थव्यवस्थाओं में  शामिल था, लेकिन पिछले साल से हालात बदले हैं. पड़ोसी देश चीन भी भारत से आगे निकल गया है. थोड़ा पीछे जायें, तो फाइनेंशियल ईयर 2019-20 में भारत की जीडीपी ग्रोथ 4.2 पर्सेंट पर  ठहर गयी थी, जबकि चीन की इकॉनमी  6 फीसदी की दर से आगे बढ़ी थी.

इसे भी पढ़े : जम्मू-कश्मीरः बडगाम में सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर

आईएमएफ ने भारत की इकॉनमी में बड़ी गिरावट की बात कही

इस साल की बात करें तो आईएमएफ द्वारा भारत की इकॉनमी में बड़ी गिरावट की बात कही गयी है,  दूसरी तरफ चीन की ग्रोथ 1.9 पर्सेंट रहने का अनुमान जताया गया है. हालांकि वैश्विक संस्था ने अगले साल भारत की आर्थिक ग्रोथ 8.8 पर्सेंट रहने का अनुमान जताया है, जबकि चीन की ग्रोथ 8.2 फीसदी रहेगी. ने

अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत मिलने की बात करते हुए वित्त मंत्री ने कहा है कि अप्रैल से अगस्त के दौरान एफडीआई में तेजी देखने को मिली है.  कहा कि इस दौरान एफडीआई में 2019 के मुकाबले 13 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है. भारत में एफडीआई में इतनी तेज ग्रोथ कभी नहीं हुई है. इसके अलावा वित्त मंत्री ने पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स में उछाल को भी अर्थव्यवस्था में सुधार का संकेत करार दिया.

इसे भी पढ़े : पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ में झारखंड के ‘आजीविका फार्म फ्रेश’ की तारीफ की, SHG के आइडिया को सराहा

देश में फेस्टिव सीजन की शुरुआत के साथ ही सुधार की उम्मीद

उन्होंने कहा, ‘हम सुधार देख सकते हैं.  खासतौर पर परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स के मामले में. इसमें 2012 के बाद पहली बार इतनी तेजी देखने तो मिली है. इससे यह संकेत मिलता है कि लगातार सुधार हो रहा है और यह बना हुआ है. तीसरी और चौथी तिमाही में भी स्थायी सुधार देखने को मिलेगा.  

वित्त मंत्री ने कहा कि देश में फेस्टिव सीजन की शुरुआत के साथ ही सुधार की उम्मीद है. उन्होंने कहा, प्राइमरी सेक्टर्स अच्छा परफॉर्म कर रहे हैं. कृषि और ग्रामीण सेक्टर अच्छा कर रहे हैं. फेस्टिव सीजन में मांग बढ़ने की उम्मीद है और यह स्थायी रहेगी.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: