RanchiTop Story

वित्त विभाग के पास है सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स की वेतन बढ़ोतरी का प्रस्ताव, अनुमति मिलते ही बढ़ेगी सैलेरी

Ranchi: राज्य में नवनिर्मित तीन नए मेडिकल कॉलेजों में सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स को रिम्स की तुलना में बहुत कम वेतन मिल रहा है.

जिस वजह से नाराज चल रहे सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर नौकरी छोड़ रहे हैं. राज्य के तीनों मेडिकल कॉलेज पलामू, हजारीबाग, दुमका के लिए कुल 100 सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स की नियुक्ति की गयी थी. जिसमें से करीब 12 डॉक्टर नौकरी छोड़ चुके हैं.

इसे भी पढ़ेंः#RamMandir : आज से शुरू होगी अयोध्या मामले की अंतिम सुनवाई, शहर में धारा 144 लगायी गयी

अब इन डॉक्टर्स की वेतन बढ़ोतरी का प्रस्ताव स्वास्थ्य विभाग ने वित्त विभाग को भेजा है. प्रस्ताव की मंजूरी मिलते ही सभी के वेतनमान में बढ़ोतरी कर दी जाएगी. तीनों नए मेडिकल कॉलेजों में नवनियुक्त डॉक्टर्स को 60 हजार वेतन निर्धारित है.

रिम्स के सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स को एक लाख, पड़ोसी राज्यों में भी अधिक

डॉक्टर्स की नाराजगी की प्रमुख वजह वेतनमान से असंतुष्टी को ही बताया जा रहा है. रिम्स के सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स को करीब एक लाख रुपये तक की सैलरी मिलती है.

वहीं पड़ोसी राज्य बिहार के सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स को 82 हजार रुपये मिलते हैं. पश्चिम बंगाल के मेडिकल कॉलेजों में सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स को 65 से 70 हजार मिलते हैं. महाराष्ट्र में भी डॉक्टर्स की सैलरी 55 हजार से बढ़ाकर 70 हजार के करीब कर दी गयी है.

इसे भी पढ़ेंः#RaviShankarPrasad ने आर्थिक मंदी पर अपना विवादित बयान तो वापस ले लिया, तब तक ट्विटर पर लोगों ने मजे ले लिए, आप भी देखें

अगस्त से ही चालू हुआ है तीनों मेडिकल कॉलेजों में इलाज

राज्य में नवनिर्मित इन तीनों मेडिकल दुमका, हजारीबाग और पलामू में इसी साल अगस्त से इलाज चालू हुआ है. अगस्त में ही तीनों मेडिकल कॉलेजों के लिए 100 सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर्स की नियुक्ति की गयी थी.

नियुक्ति के महज तीसरे महीने में ही 12 भी अधिक डॉक्टर्स ने नौकरी छोड़ दी है. साथ ही और भी डॉक्टर इससे असंतुष्ट हैं. अगर डॉक्टर्स के छोड़ने का सिलसिला ऐसे ही जारी रहा तो मरीजों को इलाज के लिए रिम्स ही आना पड़ेगा.

इसे भी पढ़ेंः#UP: मऊ में सिलेंडर ब्लास्ट से दो मंजिला इमारत ढही, 10 लोगों की मौत-12 से ज्यादा घायल

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close