न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एक माह में भरें सड़कों के सभी गड्ढे, नहीं तो कंपनी होगी टर्मिनेट: सीपी सिंह

74

Ranchi: सीवरेज योजना पर काम कर रही निर्माण एजेंसी को नगर विकास एवं आवास मंत्री सीपी सिंह ने जमकर फटकार लगायी. उन्होंने कहा कि पिछले 3 साल से सीवरेज निर्माण के नाम पर शहर की सड़कों की हालत बिगाड़ कर रख दी गयी है. सड़कों को खोदकर बीते कई महीनों और कुछ जगहों पर तो दो सालों से ऐसे ही छोड़ दिये गये हैं. इससे लोगों की काफी परेशानी बढ़ी है.  इस बात का थोड़ा भी ध्यान कंपनी के लोगों को नहीं है. मंत्री ने कंपनी के प्रतिनिधियों को एक माह का समय देते हुए कहा कि आगामी 23 नवंबर तक सभी सड़कों को दुरुस्त कर दिया जाये. यदि 23 नवंबर से पहले सड़कों पर बने गड्ढों को नहीं भरा गया तो कंपनी को टर्मिनेट दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : बकोरिया कांड पर बोले मंत्री सरयू रायः सीबीआई जांच से सामने आयेगा सच

31 मार्च तक पूरा करें सीवरेज ड्रेनेज की फेज वन का काम: सचिव

सचिव अजय कुमार सिंह ने भी कंपनी के पदाधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि कंपनी बार-बार एक ही काम के लिए एक्सटेंशन ना मांगे. 31 मार्च 2019 तक सीवरेज प्रोजेक्ट के फेज वन का काम पूरा करना है. हर हाल में कंपनी तय तिथि‍ तक प्रोजेक्ट पूरा करे. नहीं तो उनका परफॉर्मेंस और बैंक गारंटी दोनों काट लिया जायेगा. सचिव ने यह भी निर्देश दिया कि‍ ट्रेंचलेस वर्क और एसटीपी निर्माण में भी तेजी लाते हुए इसे ससमय पूरा करें. सचिव अजय कुमार सिंह ने नगर आयुक्त मनोज कुमार को निर्देश देते हुए कहा कि सीवरेज प्रोजेक्ट के तहत जिन सड़कों पर पाइप बिछाने का काम पूरा हो चुका है. वहां इलाके का सर्वे कराकर सड़कों को नये सिरे से बनाने का कार्य आरंभ करें. जरूरत हुई तो सरकार इसके लिए अतिरिक्त राशि भी नगर निगम को उपलब्ध करायेगी.

इसे भी पढ़ेंः29 को राजभवन के समक्ष धरना देंगे बिहार और झारखंड के ग्रामीण चिकित्सक

रातू रोड, हरमू और एचईसी में बनाया जाये वेंडर मार्केट

palamu_12

सचिव अजय कुमार सिंह ने नगर निगम को निर्देश देते हुए कहा कि रातू रोड स्थित गैलेक्सिया मॉल के पीछे नगर निगम की जमीन,  हरमू स्थित ट्रांसफर स्टेशन के पास और एचईसी क्षेत्र में एक-एक वेंडर मार्केट बनाकर फुटपाथ दुकानदारों को यहां बसाया जाये. जिससे बिरसा चौक, किशोरगंज चौराहा और रातू रोड की ट्रैफिक स्मूथ हो सकेगी. मालूम हो कि सभी नगर निकायों को यह पूर्व से ही निर्देश दिया जा चुका है कि जिन क्षेत्रों की आबादी 50 हजार से ज्यादा है वहां एक वेंडर मार्केट बनाया जाये, ताकि आस-पास के लोगों को घर की दैनिक जरूरत की चीजों के लिए दूर तक न जाना पडे. इस बैठक में शहर की सफाई पर भी कई आवश्यक निर्देश देते हुए कहा कि एक दो वार्ड में सफाई व्यवस्था सेल्फ हेल्प ग्रुप को देकर इसकी समीक्षा की जाये. मौके पर नगर आयुक्त मनोज कुमार समेत अन्य विभागीय कर्मचारी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें- ‘गांव’ फिल्म का अंतर्राष्ट्रीय लोकार्पण 26 अक्टूबर को, इटखोरी से प्रेरित है कहानी

359 करोड़ की है योजना, तीन साल से हो रहा है काम

राजधानी में 3 साल पहले सीवरेज पाइपलाइन बिछाने  की योजना की शुरुआत की गई थी. जिसकी कुल प्रोजेक्ट कॉस्ट लगभग 359 करोड़ों रुपये थी. जिसमें कुल 192 किलोमीटर तक सीवरेज पाइप लगाने का प्रस्ताव है. 181 किलोमीटर में लूप लाइन और ग्यारह किलोमीटर ट्रंक लाइन बिछाना था. निर्माण में लगी कंपनी में कार्यरत पदाधिकारियों की मानें तो अब तक ट्रंक लाइन में 3 किलोमीटर तक का पाइप बिछाने का काम पूरा हो चुका है, वहीं लूप लाइन में 113 किलोमीटर पाइप बिछाया जा चुका है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: