Corona_Updates

#FightAgainstCorona : तीन आदिवासी युवाओं ने मिल कर बनायी ऑटोमैटिक सैनिटाइजर मशीन

  • तीनों ने रिम्स प्रबंधन को दिया डेमो, पसंद आयी मशीन

Ranchi: कोविड 19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए समाज में काफी जागरुकता है. हर वर्ग इससे बचाव और सर्तकता के अपने उपाय ढूंढ़ रहा है. इसी बीच राज्य के युवाओं ने अपनी ओर से पहल की. तीन आदिवासी युवाओं ने मिल कर सैनिटाइजेशन मशीन बनायी. जिसका नाम दिया गया है ऑटोमेटिक फुल बॉडी सैनिटाइजर मशीन.

देखें वीडियो

सैनिटाइजेशन मशीन बनानेवाले युवाओं में एक करम टोप्पो झारखंड पुलिस की विशेष शाखा में सुरक्षा उपकरण तकनीशियन हैं. वहीं अन्य दो युवा बसंत लकड़ा मैकेनिकल इंजीनियर और सुशील तिर्की हैं. शनिवार को तीनों युवाओं की ओर से रिम्स प्रबंधन के समक्ष ऑटोमेटिक फुल बॉडी सैनिटाइजर मशीन का डेमो दिया गया.

डेमो रिम्स प्रबंधन को काफी पंसद आया. आगामी सोमवार को तीनों युवाओं की ओर से मशीन के लिए प्रपोजल रिम्स प्रबंधन को दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – #Lockdown से राजस्व स्रोत हुए बंद, ऋण प्राप्त करने की सीमा GSDP का 3 से बढ़ा कर 5 फीसदी हो :  हेमंत

रिम्स में पांच जगह लगेगी मशीन

जानकारी मिली है की मशीन पूरी तहर से ऑटोमैटिक है. जिसे बनाने में कुल 30 हजार का खर्च आया है. सैनिटाइनजेशन मशीन रिम्स में पांच जगहों पर लगायी जायेगी. सोमवार के बाद इस पर सहमति बनेगी. करम टोप्पो ने जानकारी दी कि मशीन बनाने में तीन दिन का समय लगा.

इस मशीन के जरिये पूरी बॉडी को सैनिटाइज किया जा सकता है. साथ ही वर्तमान में रिम्स में लगी सैनिटाइजर मशीन से हो रही सैनिटाइजर की बर्बादी से भी बचा जा सकता है. बता दें कि राज्य में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए सैनिटाइजेशन पर अधिक जोर दिया जा रहा है.

adv

इसे भी पढ़ें – स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया, लॉकडाउन नहीं होता तो देश में कोरोना पॉजिटिव के इतने मरीज हो सकते थे

साइंटिफिकली प्रूवड है मशीन

रिम्स में कोविड 19 के लिए गठित स्पेशल टास्क फोर्स के सदस्य डॉ निसिथ एक्का ने जानकारी दी कि मशीन पूरी तरह से साइंटिफिकली प्रूवड है. रिम्स प्रबंधन ने इसका डेमो देखा, जिसे काफी पंसद किया गया. इसकी खासियत है की यह पूरी तरह ऑटोमेटिक है. जो सैनिटाइजर लोग इस्तेमाल कर रहे हैं, वही इस्मेताल किया जायेगा. इससे सैनिटाइजर की बर्बादी नहीं होगी. प्रपोजल मांगा गया है. कोशिश की जायेगी जल्द ही मुख्य द्वारों में इसे लगाया जाये.

इसे भी पढ़ें – पीएम ने सोमवार से मंत्रियों को दफ्तर से काम करने को कहा!

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: