Corona_Updates

#FightAgainstCorona : रिम्स में 25 मार्च को लिये गये सात कोरोना संदिग्धों के सैंपल

Ranchi: रिम्स में बुधवार को दोपहर 2 बजे तक कोरोना संक्रमण के कुल सात मरीजों के सैंपल लिये गये हैं. मंगलवार के दो बचे सैम्पलों के साथ इनकी जांच की जा रही है.

रिम्स में कुल 9 सैंपल की जांच बुधवार को हो रही है. मंगलवार को जांच किये गये सभी सैम्पल की रिपोर्ट निगेटिव है. रिम्स में अब तक कुल 58 सैम्पल जांच के लिए लिये गये थे, जिसमें से 49 सैम्पलों की रिपोर्ट निगेटिव है. सरकारी आंकड़ों के लिहाज से अभी तक झारखंड में एक भी मरीज कोरोना वायरस की चपेट में नहीं आया है.

इसे भी पढ़ें – #21daylockdown: गरीबों के लिए दाल भात केंद्र बना सहायक, भोजन देने के पहले सेनेटाइजर से धुलाया जा रहा हाथ

ram janam hospital
Catalyst IAS

मंगलवार से चालू हुई है रिम्स में कोरोना की जांच

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

रिम्स में मंगलवार से ही कोरोना की जांच शुरू हुई है. पहले दिन कुल 6 सैम्पल लिये गये थे, जिनमें से चार की जांच हुई थी. जांच के लिए अभी माइक्राबॉयोलॉजी विभाग में 500 जांच के किट मौजूद हैं.

रिम्स ने किट के लिए एनआइबी को डिमांड भेज दी है. वैसे डॉ मनोज ने बताया कि एनआइबी जरूरत पड़ने पर खुद से मुहैया करा देता है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि जांच में जांचकर्ता द्वारा प्रयोग होनेवाली पीपीई किट जरूरी हैं.

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona : सांसद आदर्श ग्राम महिलौंग में बाहरी लोगों की नो एंट्री, गांव की सीमा पर हुई नाकेबंदी

चिकित्सकों ने एन95 मास्क और पीपीई गाउन की मांग की

बुधवार को रिम्स में स्वास्थ्य मंत्री के साथ बैठक में चिकित्सकों ने एन95 और पीपीई गाउन की मांग की ताकि इलाज के समय चिकित्सक संक्रमित होने से बच सकें और उन्हें सुरक्षा भी मिल सके. स्वास्थ्य मंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया कि जल्द ही मास्क और गाउन उपलब्ध कराने की कोशिश की जायेगी. बता दें कि देश भर के कई बड़े शहरों के अस्पताल में पीपीई किट की कमी हो गयी है.

न्यूज विंग की अपील

देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

इसे भी पढ़ें – डॉक्टरों की पीड़ा और सोशल डिस्टेंसिंग को समझे बिना हम कोरोना का सामना नहीं कर सकते

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button