Corona_Updates

#FightAgainstCorona : सीएम हेमंत सोरेन ने राज्यपाल से कहा – संसाधनों की कमी से जूझ रहा राज्य, केंद्र से मदद उपलब्ध करायें

  • कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए राजभवन में उच्चस्तरीय बैठक, सीएम सहित कई आला अधिकारी थे उपस्थित

Ranchi :  राज्य में कोरोना पॉजिटिव के चौथे मामले के सामने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और आला अधिकारियों ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के साथ एक उच्चस्तरीय बैठक की. बैठक राजभवन में आयोजित की गयी.

इस दौरान मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को कोरोना के रोकथाम को लेकर उठाये गये कदमों की जानकारी दी. वहीं सरकार के सामने संसाधनों की आ रही कमियों से भी उन्हें अवगत कराया.

बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में सीएम ने बताया कि संसाधनों की कमी से इन दिनों राज्य सामना कर रहा है. आपदा की इस स्थिति में केंद्र की तरफ से सीमित मदद मिल रही है. राज्य के सामने एक बड़ा संकट आने की आशंका है. ऐसे में केंद्र और राज्य के बीच सशक्त भूमिका निभानेवाले संवैधानिक पद राज्यपाल को हर बातों से अवगत कराना अतिआवश्यक है. इसलिए यह उच्चस्तरीय बैठक रखी गयी. उनसे मांग की गयी है कि वे केंद्र से बातचीत कर राज्य को आवश्यक संसाधन मुहैया करायें.

इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona : 16 लाख टेस्टिंग किट, 1.5 करोड़ पीपीई, 2.7 करोड़ एन95 मास्क और 50 हजार वेंटिलेटर की जरूरत

मुलाकात के दौरान मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, पुलिस महानिदेशक एमवी राव,  राज्यपाल के प्रधान सचिव शैलेश कुमार सिंह,  मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का,  स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी और मुख्यमंत्री के आप्त सचिव सुनील श्रीवास्तव उपस्थित थे.

केंद्र से मिली मदद काफी सीमित

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना को देखते हुए केंद्र ने कुछ दिन पहले मेडिकल इक्विपमेंट राज्य को मुहैया कराया है, वह काफी सीमित है. हालांकि पिछड़ा राज्य होने के बाद भी सरकार ने हर संभव तैयारी की है, लेकिन अब भी संक्रमण से जूझ रहे योद्धाओं की सुरक्षा के लिए मेडिकल इक्विपमेंट जैसे संसाधनों की थोड़ी कमी है. इसी कमी की जानकारी राज्यपाल को दी गयी है. बता दें कि कोविड-19 से बचाव के लिए झारखंड भवन नयी दिल्ली से एयर इंडिया कार्गो से 3 अप्रैल को 85000 थ्री लेयर मास्क, 15,000 एन 95 मास्क, 4986 पीपीई किट, 7 हजार 500ml के  सैनिटाइजर,  100 थर्मल स्कैनर भेजे गये हैं.

इसे भी पढ़ें – हिंदपीढ़ी में #Corona की दूसरी मरीज मिलने के बाद रांची जिला प्रशासन रेस, इलाके की 24 घंटे रखी जायेगी निगरानी

केंद्र से समन्वय कर तत्काल ही मदद का रास्ता निकालें राज्यपाल

सीएम ने राज्यपाल को कहा है कि वे केंद्र से समन्वय कर तत्काल ही इस रास्ता निकालें. उन्होंने कहा कि कोरोना राज्य के लिए एक बहुत ही बड़ी आपदा है. यह कब एक बड़ा रूप ले लेगी, यह कहना बहुत ही मुश्किल है. इससे बचाव के जो संसाधन हैं, उनकी पहले ही से तैयारी कर लेना जरूरी है.

राज्यपाल ने भी केंद्र की तरफ से उन्हें हरसंभव मदद दिलाने का आश्वसन दिया. राज्यपाल से कहा है कि केंद्र सरकार से वे बात कर राज्य को हर मेडिकल सुविधा जल्द ही मुहैया कराने की पहल करेंगी.

संक्रमित मरीजों को हर संभव मदद देने का दिया गया है निर्देश

राज्य में चौथे कोरोना वायरस के पॉजिटिव के मिलने के बाद राज्य सरकार की तैयारी के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की यह प्राथमिकता है कि कैसे इस आपदा से बाहर आया जाये. प्रशासन को निर्देश दिया गया है कि ऐसे लोगों पर सख्ती से नजर रखी जाये. जो भी इस से संक्रमित पाये गये हैं. उनकी निगरानी और उनके इलाज की हर संभव कोशिश करने का निर्देश भी दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – कोरोना वायरस संकट : जापान में लागू हो सकती है इमरजेंसी,  प्रधानमंत्री ने प्रस्ताव रखा

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: