JharkhandRanchi

#FightAgainstCorona: प. सिंहभूम जिला प्रशासन ने तैयार किया खास सैंपल कलेक्शन सेंटर, नहीं पड़ेगी पीपीई किट की जरूरत

Ranchi: जिला प्रशासन पश्चिमी सिंहभूम ने चाईबासा में फोन बूथ कोविड-19 सैंपल कलेक्शन सेंटर तैयार कर लिया है. इस कलेक्शन सेंटर में किसी भी तरह की पीपीई किट, मास्क सहित किसी भी तरह के प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट की जरूरत नहीं पड़ेगी.

Jharkhand Rai

पश्चिमी सिंहभूम केडीसी ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पीपी किट के रिप्लेसमेंट के तौर पर यह सैंपल कलेक्शन सेंटर काफी कारगर और किफायती है.

बता दें कि एक पीपीपी किट की कीमत लगभग 600 से 3000 के बीच है. हर एक जिले में 500 से 1000 कीट की जरूरत पड़ रही है. यह कलेक्शन सेंटर बड़ी आबादी के सैंपल जांच में काफी कारगर साबित हो सकता है.

इटली सहित कई देशों में इस तरह के कलेक्शन सेंटर तैयार किये गये हैं. इस सेंटर को अभी चाईबासा सदर अस्पताल परिसर में स्थापित किया गया है. इसका उद्घाटन शनिवार को डीसी, डीडीसी और सिविल सर्जन द्वारा किया गया.

Samford

इसे भी पढ़ें : चीन ने अपने दोस्त पाकिस्तान को लगाया चूनाः टॉप क्वालिटी का बता ‘अंडरवियर’ से बने मास्क भेजे

पीपीई किट की भारी कमी बनी है परेशानी का सबब

#FightAgainstCorona: चाईबासा जिला प्रशासन ने तैयार किया खास सैंपल कलेक्शन सेंटर, नहीं पड़ेगी पीपीई किट की जरूरतझारखंड सहित पूरे देश में पीपीपी कीट की कमी कोरोना से लड़ने में सबसे बड़ी मुसीबत साबित हो रही है. बता दें कि एक पीपीई किट को एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है, बिना पीपीई किट के संक्रमित मरीजों के पास जाने से खुद के संक्रमित होने का गंभीर खतरा है.

पीपीई किट का इस्तेमाल डॉक्टरों के अलावा कोरोना के सैंपल जांच में लगे मेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस ड्राइवर सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के लिए जरूरी है. पर बड़ी संख्या में यह उपलब्ध नहीं हो पा रहा है.

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता पीपीई किट, एन-95 मास्क सहित अन्य जरूरी उपकरणों के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से लगातार मांग कर रहे हैं, पर मांग के अनुपात में आपूर्ति बहुत कम हो पा रही है.

इसे भी पढ़ें : #Jharkhand में PDS का हाल: दुकान से बाहर निकलकर वजन करने पर कम निकलता है अनाज

शुक्रवार को आया है 500 पीपीई किट

हालांकि शुक्रवार को दिल्ली से एयर कार्गो के माध्यम से लगभग 5000 की संख्या में पीपीई किट, 12 हजार की संख्या में मास्क सहित अन्य जरूरी सामान उपलब्ध कराये गये हैं.

पर देश भर में तेजी से फैल रहे संक्रमण को देखते हुए यह पर्याप्त नहीं है. ऐसी स्थिति में चाईबासा जिला प्रशासन द्वारा तैयार किये गये इस फोन कोविड-19 कलेक्शन सेंटर का इस्तेमाल पूरे राज्य में सैंपल कलेक्शन के लिए तैयार कराकर किया जा सकता है.

कोविड-19 से बचाव के लिए शुक्रवार को नयी दिल्ली स्थित झारखंड भवन से एयर इंडिया कार्गो से 85000 थ्री लेयर मास्क, 15000 एन-95 मास्क, 4986 पीपीई किट, 7 हजार 500ml के सेनेटाइजर,  100 थर्मल स्कैनर भेजे गये हैं.

वहीं 30 मार्च को 1200 वीटीएम किट एवं 25000 एन-95 मास्क भेजे जा चुके हैं. सभी मेडिकल इक्विपमेंट एयर कार्गो द्वारा भेजे जा रहे हैं.

राज्य सरकार कोरोना वायरस से बचाव एवं उसकी चिकित्सा के लिए लगातार प्रयासरत है. आवश्यकतानुसार आगे भी चिकित्सीय उपकरण मंगाये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें : #Lockdown21: गुजरात में फंसे राज्य के मजदूरों ने सीएम से मांगी मदद, वीडियो वायरल होने पर कंपनी ने देर रात पहुंचाया राशन

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: