Corona_Updates

#FightAgainstCorona : 16 लाख टेस्टिंग किट, 1.5 करोड़ पीपीई, 2.7 करोड़ एन95 मास्क और 50 हजार वेंटिलेटर की जरूरत

New Delhi: भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. जैसे-जैसे ये मामले बढ़ते जा रहे हैं भारत के विभिन्न राज्यों से मेडिकल उपकरणों की मांग बढ़ती जा रही है. खास कर पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट यानी पीपीई और कोरोना वायरस की जांच के लिए टेस्टिंग किट की.

कोरोना के खिलाफ अब तक की लड़ाई में यह साफ हो गया है कि सरकार को ज्यादा से ज्यादा लोगों के टेस्ट करने होंगे. जितने ज्यादा मामलों की टेस्ट होगी उतने ही पॉजिटिव मामले सामने आने की आशंका है.

यह सब देखते हुए केंद्र सरकार ने अंदाजा लगाया है कि आनेवाले दो महीनों में भारत को 2.7 करोड़ एन95 मास्क, 1.5 करोड़ पीपीई, 16 लाख टेस्टिंग किट और 50 हजार वेंटिलेटर की जरूरत होगी.

advt

इसे भी पढ़ें – कोरोना से लड़ाई में किन रुकावटों का सामना कर रहे हैं चिकित्सक- सरकार इस सवाल पर कितनी गंभीर है?

सरकार ने दी जानकारी

सूत्रों के अनुसार नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने 3 अप्रैल को एक बैठक का आयोजन किया था. इसमें बिजनेस, इंडस्ट्री, निजी सेक्टर, एनजीओ और अंतरराष्ट्रीय संगठन के प्रतिनिधियों को बुलाया गया था. उन्हें यह बताया गया है कि भारत को आनेवाले समय में मेडिकल उपकरणों की कितनी जरूरत पड़ सकती है.

इसे भी पढ़ें – हिंदपीढ़ी में #Corona की दूसरी मरीज मिलने के बाद रांची जिला प्रशासन रेस, इलाके की 24 घंटे रखी जायेगी निगरानी

देश में 16 हजार वेंटिलेटर हैं, 34 हजार का दिया गया ऑर्डर

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि देश में अगले दो महीने में 50 हजार वेंटिलेटर की जरूरत होगी. देश में अभी 16 हजार वेंटिलेटर उपलब्ध हैं. बाकी के 34 हजार वेंटिलेटर के लिए ऑर्डर दे दिया गया है.

adv

अधिकारियों से इंडस्ट्री के प्रतिनिधियों ने पूछा था कि सरकार को कितने उपकरणों की जरूरत पड़ेगी. उनके अनुसार किसी भी प्रोजेक्ट में निवेश करने के लिए यह जानकारी होना जरूरी है कि सरकार कितनी संख्या में क्रय करेगी.

ये लोग शामिल थे बैठक में

इस बैठक में अमिताभ कांत के अलावा प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर डॉक्टर विजयराघवन, एनडीएमए के सदस्य कमल किशोर, सीबीआइसी के सदस्य संदीप मोहन भटनागर, अतिरिक्त गृह सचिव अनिल मलिक, पीएमओ में ज्वाइंट सेक्रेटरी गोपाल बाग्ले और कैबिनेट सेक्रेटेरियट में डिप्टी सचिव टीना सोनी उपस्थित थीं. इंडस्ट्रीज की ओर से फिक्की की अध्यक्ष डॉक्टर संगीता रेड्डी, फिक्की के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट उदय शंकर, फिक्की के वाइस प्रेसिडेंट मेहता, हनी वेल के अश्विनी चनन और महाजन इमेजिंग के हर्ष महाजन उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – कोरोना वायरस संकट : जापान में लागू हो सकती है इमरजेंसी,  प्रधानमंत्री ने प्रस्ताव रखा

advt
Advertisement

One Comment

  1. Do you mind if I quote a few of your articles as long as I provide credit and sources back to your webpage? My blog site is in the exact same area of interest as yours and my visitors would really benefit from a lot of the information you provide here. Please let me know if this ok with you. Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button