GiridihJharkhand

गिरिडीह: पति-पत्नी के विवाद को निपटाने के लिए हो रही बैठक में मारपीट, पुलिस ने शांत किया मामला

विज्ञापन

Giridih:  गिरिडीह के पचंबा थाना क्षेत्र के सुग्गासार के कजरो गांव में दहेज प्रताड़ना के मामले में दो पक्षों के बीच मारपीट की घटना हुई. इसे दो समुदाय के बीच का विवाद बता दिया गया. इसके बाद सुग्गासार गांव से लेकर पचंबा के रानीखावा इलाका प्रभावित रहा. जिसमें पचंबा पुलिस ने माहौल को समान्य करने के लिए दोनों समुदाय के लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया.

करीब एक दर्जन बाइक को भी जब्त किया. पचंबा थाना प्रभारी शर्मानंद सिंह क्यूआरटी के जवानों के साथ पहुंचे और माहौल को समान्य किया. कुछ देर बाद मामला भी साफ हो गया कि मारपीट की घटना कोई दो समुदाय के बीच नहीं, बल्कि दहेज प्रताड़ना को लेकर था. जिसे सुलझाने के लिए बैठक चल रही थी. यह अलग बात रही कि बैठक में लड़का और लड़की पक्ष की ओर से दोनों समुदाय के लोग शामिल हुए थे.

इसे भी पढ़ेंः मनमोहन सिंह ने कहा, मोदी सरकार का एकपक्षीय रवैया federal politics के लिए ठीक नहीं

advt

10 साल पहले हुई थी शादी

जानकारी के अनुसार जमुआ थाना क्षेत्र की बहरवाबाद पचांयत के बड़ाडीह टोला निवासी सलामत मियां की बेटी जुलैखा खातून की शादी सुग्गासार गांव निवासी मुस्लिम अंसारी के बेटे सरफराज से 10 साल पहले हुई थी. आरोप है कि शादी के बाद से ससुराल वाले जुलैखा खातून को दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे थे.

कई बार बैठकों के बाद भी कोई निर्णय नहीं होने के बाद एक सालों से जुलैखा खातून अपने मायके बड़ाडीह में रह रही थी. मुहर्रम में मारपीट की घटना के बाद शनिवार को जुलैखा खातून के ससुराल कजरो गांव में विवाद को सुलझाने के लिए बैठक चल रही थी. इसमें मारपीट की घटना हुई. इस बीच पचंबा पुलिस के पहुंचने के बाद मामला शांत हुआ.

इसे भी पढ़ेंः इंदौर: 7,500 करोड़ की मेट्रो रेल परियोजना की CM कमलनाथ ने रखी नींव

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button