Crime News

खूंटी के कोचांग में सामूहिक दुष्कर्म मामले में फादर अल्फांसो दोषी करार, कोर्ट से ही भेजा गया जेल

Khunti: 19 जून 2018 में खूंटी के कोचांग में नुक्कड़ नाटक करने आयीं पांच महिलाओं से हुए सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी फादर अल्फांसो आईंद को मंगलवार को खूंटी सिविल कोर्ट ने दोषी करार दिया. कोर्ट के द्वारा दोषी करार दिये जाने के बाद फादर अल्फांसो को कोर्ट से ही हिरासत में ले लिया गया. कोर्ट के आदेश के बाद उन्हें खूंटी उपकारा भेज दिया गया. मामले की अगली सुनवाई 15 मई को होगी, उसी दिन दोषियों को सजा सुनायी जायेगी.

इसे भी पढ़ें – बोकारो : निर्माण के 10 साल बाद भी शुरू नहीं हुआ ITI, मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज का भी वादा अधूरा

जमानत पर आये थे बाहर फादर अल्फांसो

झारखंड उच्च न्यायालय ने वर्ष 2018 में खूंटी जिले में पांच महिला कार्यकर्ताओं के अपहरण और सामूहिक दुष्कर्म के मामले में फादर अल्फांसो को जमानत दे दी थी. 12 मार्च को उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए, न्यायमूर्ति एबी सिंह की अदालत ने आईंद को मृत सैनिकों के परिवारों के लिए स्थापित ‘शहीद कोष’ में 15,000 रुपये जमा करने का निर्देश दिया था.

फादर अल्फोंसो आईंद कोचांग गांव स्थित उस मिशनरी स्कूल के प्रमुख थे, जहां से महिलाओं का अपहरण किया गया था. पीठ ने फादर अल्फांसो को निचली अदालत की अनुमति के बिना खूंटी जिला छोड़ कर न जाने और अदालत में अपना पासपोर्ट जमा करने का निर्देश दिया था.

इसे भी पढ़ें – ट्रैफिक पुलिस को मिले इंटरसेप्टर वाहन बन गये हैं शो पीस, स्पीड लिमिट के दावे हो गए फेल

अपहरण करके महिलाओं से साथ किया गया था सामूहिक दुष्कर्म

19 जून 2018 को कोचांग में नुक्कड़ नाटक करने आयीं पांच महिलाओं का अपहरण करके, उन्हें जबरन सात-आठ किलोमीटर दूर जंगल में ले जाकर बंदूक के बल पर उनसे सामूहिक दुष्कर्म किया गया था. फादर अल्फांसो के खिलाफ इस जघन्य अपराध के सिलसिले में दो प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. आईंद पर दोषियों को न रोकने और पुलिस को इस घटना के बारे में सूचित करने में विफल रहने का आरोप लगाया गया था. उन्होंने कथित तौर पर पीड़ितों को दोषियों के साथ जाने के लिए कहा था और साथ ही कहा था कि उन्हें कुछ समय बाद छोड़ दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – इधर भी एनडीए और उधर भी एनडीए की सरकार, फिर भी नहीं सलटा नदियों के पानी का मामला

Related Articles

Back to top button