Crime NewsJharkhandLead NewsRanchi

धान बेचने वाले किसान हो जाएं सावधान, भुगतान के नाम पर साइबर अपराधी कर सकते हैं खाता खाली

Ranchi: अलग अलग जिलों में धान अधिप्राप्ति की प्रक्रिया जारी है. किसानों से सरकार धान लेने में लगी है. रजिस्ट्रेशन के बाद किसानों से धान की खरीद करने के बाद उसका भुगतान शुरू किया जायेगा. साइबर अपराधियों ने इसमें भी ठगी का तरीका ढूंढ लिया है. Fake call करके किसानों को धान के भुगतान के लिए एकाउंट नंबर मांगा जा रहा है. आधार नंबर, ओटीपी की भी मांग हो रही. ऐसे में वे ठगी के शिकार हो सकते हैं. सरकार ने किसानों से ऐसे किसी फोन से बचने का निर्देश जारी किया है.

इसे भी पढ़ें : चक्रधरपुर : दो माह के शिशु का शव मिला, कपड़े में लपटेकर छह दिन पहले फेंका गया था

advt

लोहरदगा में आ चुका है केस

गौरतलब है कि लोहरदगा में ऐसे फोन किसानों को आने की खबर सामने आयी है. जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने सूचना मिलते ही सबों को अलर्ट किया है. सभी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों, सभी प्रखंड प्रसार सहकारिता पदाधिकारियों, प्रखंड कृषि पदाधिकारियों, लैंप्स अध्यक्षों और सभी धान अधिप्राप्ति केंद्र के सचिव को आगाह किया है. कहा है कि हाल के दिनों में लोहरदगा के किसानों को विभिन्न छद्म (Fake) नंबरों से जिला आपूर्ति कार्यालय, लोहरदगा का नाम लेकर धान अधिप्राप्ति के अंतर्गत भुगतान की बात कही जा रही. उनसे बैंक खाता विवरण और अन्य जानकारियां मांगी जा रही. किसान उनके झांसे में आकर ठगी के शिकार हो सकते हैं. ऐसे में किसानों को इस तरह के फोन कॉल से बचने के संबंध में व्यापक प्रचार प्रसार जरूरी है.

एफआईआर भी हो दर्ज

जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने कहा है कि किसी भी स्थिति में लैंप्स अध्यक्ष, सचिव अपने अपने किसानों को ऐसे किसी फोन के बारे में जागरूक करें. सभी संबंधित पदाधिकारी भी आपके अधिकार, आपकी सरकार- आपके द्वार शिविरों में इस संबंध में प्रचार करें. फर्जी फोन आने की खबर पर जांचोपरांत स्थानीय थाना में एफआईआर दर्ज कराएं.

इसे भी पढ़ें : कैबिनेट मंत्री की जुबान फिसली, ठाकुर-ठकार और कुछ बड़े लोग घर की महिलाओं को कोठरी में कर देते हैं बंद, हुआ बवाल

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: