न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य के किसानों को कृषि आशीर्वाद की दूसरी किस्त दुर्गा पूजा से पहले मिलेगी : रघुवर दास

749

Ranchi : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गुमला में आयोजित दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल स्तरीय उज्जवला दीदी सह अतिरिक्त रिफिल वितरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए कहा कि पूरे राज्य के किसानों सहित गुमला के 90 हजार किसानों को मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत पहली किस्त दी जा चुकी है. दुर्गा पूजा से पहले दूसरी किस्त किसानों के खाते में पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है.

उन्होंने बताया कि पूरे राज्य के 35 लाख किसानों को 3 हजार करोड़ रूपये वितरित किये जायेंगे. यह सब कृषि कार्य हेतु संसाधन को जुटाने के लिए दिया जा रहा है ताकि राज्य के किसानों को सशक्त कर कृषि विकास दर को और ऊंचा किया जा सके.

Sport House

इसे भी पढ़ें : झारखंड में है ‘चूहों की सरकार’, सबको चूहेदानी में पकड़कर गंगा पार छोड़ेगी झामुमो : हेमंत सोरेन

आदिवासी क्षेत्रों का विकास सरकार की प्राथमिकता

सीएम ने कहा कि उज्जवला दीदी कार्यक्रम के माध्यम से गुमला में 322 करोड़ की योजनाओं व परिसंपत्तियों का लाभ यहां के वासियों को दिया गया. आदिवासी बहुल क्षेत्र का सर्वांगीण विकास और वहां के लोगों को रोजगार व स्वरोजगार प्रदान करना सरकार की प्राथमिकताओं में है. ऐसे क्षेत्रों में आईटीआई, नर्सिंग कॉलेज, कौशल विकास केंद्र, एकलव्य विद्यालय,  नवोदय विद्यालय प्रारंभ करने की योजना है.

4 लाख 84 हजार आवासों तक पहुंचेगा LPG कनेक्शन

ग्रामीण विकास व संसदीय कार्य मंत्री  नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि उज्जवला योजना का अभिप्राय भी महिलाओं का सशक्तिकरण है. इससे एक ओर महिलाओं को धुआं से मुक्ति मिल रही है मिलेगी साथ ही पर्यावरण संरक्षण को भी बल मिलेगा. क्योंकि पर्यावरण व जंगल का संरक्षण अब बेहद जरूरी हो गया है. गुमला जिला में बने 4 लाख 84 हजार प्रधानमंत्री आवास तक हमें उज्जवला योजना का लाभ पहुंचाना है. कुछ आवासों तक लाभ पहुंच चुका है शेष तक लाभ पहुंचाने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है.

Mayfair 2-1-2020

इसे भी पढ़ें : गौ हत्या के पाप से प्रायश्चित के लिए गंगा स्नान करें रघुवर : केएन त्रिपाठी

मजदूरी भुगतान मामले में झारखण्ड पूरे देश मे अव्वल

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि मनरेगा में समय पर मजदूरों को उनकी मजदूरी उपलब्ध कराने वाला झारखंड देश का पहला राज्य है. ग्रामीण विकास विभाग बधाई के पात्र है. यह मजदूरों के प्रति विभाग की संवेदनशीलता को दर्शाता है. मुझे याद है 2014 में व्यापार सुगमता मामले में झारखंड का स्थान 29वां था. आज हम चौथे स्थान पर हैं. यह सब राज्य की जनता के सहयोग से संभव हुआ.

इसे भी पढ़ें : पलामू : CSP संचालक ने अपने ही दस फिंगर प्रिंट्स से हजारों खाते खोल लाखों हड़पे, भागते हुए पकड़ाया

SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like