NationalTOP SLIDER

किसान आंदोलन : 29 नवंबर का ट्रैक्टर मार्च स्थगित

advt

New Delhi: संयुक्त किसान मोर्चा ने 29 नवंबर को प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली स्थगित कर दी है. शनिवार को बैठक करने के बाद किसान नेताओं ने इसका ऐलान किया. फैसला हुआ कि 4 दिसंबर को फिर बैठक की जाएगी.

इसके पूर्व केंद्र की ओर से कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा था कि भारत सरकार ने किसानों की मांगें मान ली हैं और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर समिति बना दी गई है, ऐसे में उन्हें अपना आंदोलन खत्म कर देना चाहिए.

advt

बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में किसान नेता राजीव ने कहा कि सरकार हमसे आमने-सामने बैठकर बात करे. केंद्र ने किसानों पर दर्ज मुकदमों को राज्य का विषय बताया था. इसपर किसानों ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद मोदी और गृह मंत्री अमित शाह बीजेपी शासित राज्यों और रेलवे को निर्देश दें कि मुकदमे वापस लें.

इसे भी पढ़ें : 1 दिसंबर को आजसू पार्टी के अखिल झारखंड पिछड़ा वर्ग महासभा का राज्यस्तरीय सम्मेलन  

advt

तोमर ने क्या कहा था

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शनिवार को कहा कि ‘संसद सत्र के शुरू होने के दिन तीनों कृषि कानून रद्द करने के लिए रखे जाएंगे.’ तोमर ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री ने जीरो बजट खेती, फसल विविधीकरण, MSP को प्रभावी, पारदर्शी बनाने जैसे विषयों पर विचार करने के लिए समिति बनाने की घोषणा की है. इस समिति में आंदोलनकारी किसानों के प्रतिनिधि भी रहेंगे.’

‘अब घर लौट जाएं किसान’

तोमर ने कहा कि किसान संगठनों ने पराली जलाने पर किसानों को दंडनीय अपराध से मुक्त किए जाने की मांग की थी. भारत सरकार ने यह मांग को भी मान लिया है.

उन्होंने कहा कि ‘तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की घोषणा के बाद मैं समझता हूं कि अब आंदोलन का कोई औचित्य नहीं बनता है, इसलिए मैं किसानों और किसान संगठनों से निवेदन करता हूं कि वे अपना आंदोलन समाप्त कर, अपने-अपने घर लौटें.’

इसे भी पढ़ें : वेस्ट बोकारो में टाटा की आउटसोर्सिंग कंपनियों के कैंप ऑफिस पर बमबारी, पांच घायल, अमन श्रीवास्तव गिरोह ने ली जिम्मेदारी

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: