Lead NewsNational

बड़ा रूप लेता किसान आंदोलन, 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान

दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर से किसानों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका

New Delhi: केंद्र सरकार के साथ वार्ता करने के साथ-साथ किसानों का आंदोलन बढ़ता जा रहा है. कई राज्यों से किसान दिल्ली की तरफ आगे बढ़ रहे हैं. इसी कड़ी में किसान नेता राकेश टिकैत ने भारत बंद की घोषणा की है. उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानूनों के विरोध में 8 दिसंबर को एक दिवसीय भारत बंद का आह्वान किया गया है. साथ ही वे शनिवार को सरकार द्वारा बुलायी गयी बैठक में भाग लेंगे.

इधर केंद्र सरकार के नये कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को सिंधु बॉर्डर से हटाने के ले सुप्रीम कोर्ट मे याचिका दाखिल की गयी है.

बता दें कि प्रदर्शन का आज नौवां दिन है और किसानों ने सिंघु बॉर्डर को सील किया हुआ है.

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली के एडवोकेट ओम प्रकाश परिहार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर की गयी याचिका में कोरोना का हवाला देते हुए मांग की गयी है कि आंदोलनरत किसानों को तत्काल हटाने के निर्देश दिये जायें.

बता दें कि उत्तर प्रदेश के किसानों के एक समूह ने गुरुवार को दिल्ली को गाजियाबाद से जोड़ने वाला प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग-24 बंद कर दिया था, जिससे वहां से राष्ट्रीय राजधानी आ रहे लोगों को परेशानी हुई.

इसे भी पढ़ें : गुटखा की बिक्री को लेकर हाइकोर्ट ने जतायी नाराजगी, कहा- एंट्री प्लाइंट पर ही रोक लगे

दिल्ली आने के रास्ते बंद

यातायात पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि गाजियाबाद से दिल्ली आ रहे लोगों के लिए गाजीपुर में एनएच-24 पर दिल्ली-उत्तर प्रदेश बॉर्डर शुक्रवार को भी यातायात के लिए बंद रहा.

दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्वीट किया कि लोगों को दिल्ली आने के लिए एनएच-24 की बजाय अप्सरा /भोपुरा बॉर्डर से आने का सुझाव दिया गया है.

गौतमबुद्ध द्वार के पास किसानों के प्रदर्शन के कारण ‘नोएडा लिंक रोड’ पर चिल्ला बॉर्डर बंद है. लोगों को दिल्ली जाने के लिए ‘नोएडा लिंक रोड’ से बचने और डीएनडी का इस्तेमाल करने का सुझाव दिया जाता है.

इसे भी पढ़ें : लातेहार पुलिस ने दो को पकड़ा, कहा- सुजीत सिन्हा और पीएलएफआई के गुर्गे हैं दोनों

ये रास्ते खुले रहे

किसानों के केन्द्र के नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े रहने के मद्देनजर पुलिस ने सिंघु, लांपुर, औचंदी, सफियाबाद, पियाओ मनियारी और सबोली पर दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर को यातायात के लिए बंद ही रखा.

उसने कहा कि दिल्ली और हरियाणा के बीच ढांसा, दौराला, कापसहेड़ा, रजोकरी एनएच-8, बिजवासन/बजघेड़ा, पालम विहार और डूंडाहेड़ा बॉर्डर खुले हैं. उसने ट्वीट किया कि बडोसराय बॉर्डर केवल कार और दो-पहिया जैसे हल्के वाहनों के लिए खुला है. झटीकरा बॉर्डर केवल दो-पहिया वाहनों के लिए खुला है.

इसे भी पढ़ें : अगले कुछ दिनों में चौबीसों घंटे काम करने लगेगी आरटीजीएस प्रणाली: आरबीआइ गवर्नर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: