न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दुष्कर्म पीड़िता के परिजनों का आरोप- बिना पूरा इलाज के रिम्स ने पीड़िता को जबरन किया डिस्चार्ज

143

Ranchi : मांडर की युवती से धनबाद में हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पीड़िता को बिना पूरा इलाज किये ही रिम्स से जबरन डिस्चार्ज कर दिया गया है. पीड़िता के भाई ने बताया कि अभी तक सही से जख्म भरा भी नहीं है और न ही नाक से पाइप निकाला गया है, इसके बावजूद रिम्स प्रबंधन ने जबर्दस्ती उसकी बहन को रिम्स से डिस्चार्ज कर दिया. पीड़िता के भाई ने कहा, “अभी तक कई जख्म ताजा हैं. इसके बावजूद रिम्स के डॉक्टरों ने हमलोगों की एक भी नहीं सुनी. मेरी बहन को बेहतर इलाज की जरूरत है. हमलोगों के पास इतना पैसा नहीं है कि कहीं और बेहतर इलाज करा सकें. हमलोग सरकार से मदद की गुहार लगा रहे हैं. लेकिन, अभी तक कोई सहायता प्राप्त नहीं हुई है.”

पैसे के अभाव में किया गया नॉर्मल ऑपरेशन

पीड़ित लड़की के भाई ने बताया कि पैसे के अभाव में उनकी बहन का डॉक्टरों द्वारा नॉर्मल ऑपरेशन किया गया. जब डॉक्टर से पूछा गया कि हालात इतने गंभीर हैं, फिर भी आपलोग नॉर्मल ऑपरेशन कर रहे हैं, तो डॉक्टर ने जवाब दिया कि बिना पैसे के और क्या होगा, इतना हो गया काफी है.

इसे भी पढ़ें- एक लड़की के प्‍यार में दो दोस्‍त आपस में भिड़े, एक ने दूसरे पर चला दी गोली

एक बार भी देखने नहीं आयी मांडर थाना की पुलिस

दुष्कर्म पीड़िता को देखने मांडर थाना की पुलिस एक बार भी रिम्स नहीं पहुंची. पीड़िता के भाई ने कहा, “हमलोगों ने मांडर थाना को कई बार फोन किया, लेकिन मांडर थाना प्रभारी द्वारा बार-बार यही कहा जा रहा था कि हमलोग अभी बिजी हैं, बाद में बात करेंगे.”

हमारी जान को खतरा है : परिजन

पीड़िता के भाई का कहा, “हमारी जान को खतरा है. कभी भी हमलोगों के साथ कोई अनहोनी हो सकती है. मेरी बहन के साथ एक साजिश के तहत ऐसा किया गया है. इसके पीछे जो भी दोषी हैं, वे मेरी बहन को मारने का प्रयास भी कर सकते हैं.”

एक महीना बीत जाने के बाद भी सरकार की तरफ से नहीं मिला कोई सहयोग

23 सितंबर को मांडर की रहनेवाली लड़की को रांची के रेडियम रोड से अपहरण करके धनबाद ले जाया गया था, जहां उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया. उसके बाद गंभीर अवस्था में उसे फेंक दिया गया. इस मामले में दुष्कर्म पीड़िता को सरकार ने आश्वासन दिया था कि उसे इलाज के लिए आठ लाख रुपये देगी. इस बात की पुष्टि धनबाद एसएसपी ने खुद बयान जारी करके की थी. लेकिन, हकीकत में ऐसा हुआ नहीं. एक महीना होने को है, लेकिन पीड़िता को कोई सरकारी सहयोग नहीं मिल पाया है. सरकार सिर्फ आश्वासन देकर भूल गयी.

इसे भी पढ़ें- पलामू : चैनपुर के चांदो में स्थिति नियंत्रण में, सड़कों पर सन्नाटा

palamu_12

रिम्स में हुआ है गाल और जबड़े का ऑपरेशन

पीड़िता का इलाज रिम्स में हो रहा था. रिम्स में पीड़िता के गाल और जबड़े का ऑपरेशन हुआ. इसके बाद से वह बोलने की स्थिति में नहीं है. ऐसे में वह इशारों से बात करती है. इशारों से ही वह अपना दर्द बता रही है. पीड़िता को सहायता के नाम पर सिर्फ एक महिला पुलिसकर्मी को उसकी सुरक्षा में तैनात किया गया, लेकिन उसके इलाज में कोई सहयोग नहीं मिल सका है.

इसे भी पढ़ें- मंत्री जी के कॉलेज में फेल हो रहे हैं छात्र, पैसाें की वसूली के लिए छात्रों को किया जाता है फेल

क्या है मामला

बता दें कि अशोक नगर में किसी के यहां काम करनेवाली मांडर निवासी लड़की को 23 सितंबर की दोपहर रांची के रेडियम रोड से अपहरण करके धनबाद के जाकर उसके साथ धनबाद के बरवाअड्डा में गैंगरेप किया गया. इसके बाद उसको मारने की नीयत से आरोपियों ने उसको गंभीर रूप से घायल कर दिया और उसको उसी अवस्था में छोड़कर फरार हो गये. सुबह होने पर आस-पास के लोगों की नजर पीड़ित लड़की पर पड़ी. उसके बाद स्थानीय लोगों ने इस मामले की जानकारी पुलिस को दी थी. पुलिस ने लड़की को इलाज के लिए स्थानीय हॉस्पिटल में भर्ती करवाया था. बाद में पीड़िता के परिजनों उसे इलाज के लिए रिम्स में भर्ती कराया था.

इसे भी पढ़ें- गोमिया के छात्र की बोकारो के तुपकाडीह में हत्या, जांच में जुटी पुलिस

2014 में लापता हुआ था पीड़ित लड़की का भाई

होश आने पर पीड़िता ने बताया था कि 2014 में उसका भाई लापता हुआ था. एक दिन उसके पास किसी का कॉल आया. फोन करनेवाले ने कहा कि तुम्हारा भाई धनबाद में काम कर रहा है, चलो उससे हम मिलवा देंगे. उसी क्रम में लड़की को धनबाद ले जाया गया और वहां उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया. पीड़िता की बात से आशंका जतायी जा रही है कि जिस मानव तस्कर ने उसके भाई को गायब किया है, उसी मानव तस्कर ने इस कांड को अंजाम दिया होगा. परिजनों के मुताबिक, यह मामला कहीं न कहीं उसके भाई से जुड़ा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: