West Bengal

कोल इंडिया की फर्जी वेबसाइट बना 88,585 पदों के लिए आवेदन मांगने के मामले में प्रबंधन ने साइबर थाने में एफआईआर दर्ज करायी

विज्ञापन

Kolkata  : फर्जी वेबसाइट बना कर 88,585 पदों के लिए आवेदन मांगे जाने के मामले में आखिरकार कोल इंडिया प्रबंधन ने लिखित शिकायत साइबर थाने में दर्ज करायी. मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. कोल इंडिया प्रबंधन का कहना है कि इस तरह एससीसीएल नाम से कोई भी सहायक कंपनी नहीं है. बेरोजगार युवकों को जाल में फांसने के लिए ठगों ने साउथ सेंट्रल कोलफील्ड लिमिटेड (एससीसीएल) नाम से फर्जी वेबसाइट तैयार की और विभिन्न पदों के लिए वेकेंसी निकाली. आवेदन के साथ ही अलग-अलग पदों के लिए 180 से 350 रुपये तक जमा करने कहा गया. करीब एक माह से चल रही इस फर्जी वेबसाइट से कई बेरोजगार प्रभावित हो चुके हैं. बेरोजगारों ने जब एसईसीएल समेत अन्य कोल कंपनियों के अफसरों से जानकारी मांगी, तब इस फर्जी वेबसाइट के माध्यम से फर्जीवाड़ा किये जाने का खुलासा हुआ.

साइबर ठगों ने अपनी वेबसाइट पर कोल इंडिया के लोगो के साथ उसकी वेबसाइट भी लिंक की

इस घटना को  कोल इंडिया प्रबंधन ने गंभीरता से लिया और कोलकाता के साइबर थाना में फर्जीवाड़ा की लिखित शिकायत दर्ज करायी है. इसके साथ ही प्रबंधन ने पब्लिक नोटिस व सोशल मीडिया के जरिए फर्जीवाड़े से युवाओं को बचने की सलाह देते हुए स्थानीय थाना में शिकायत करने कहा है. साइबर ठगों ने अपनी वेबसाइट पर कोल इंडिया के लोगो के साथ उसकी वेबसाइट भी लिंक की है, इसके साथ ही पीएम इंडिया, स्वच्छ भारत समेत कई सरकारी वेबसाइट को भी लिंक की गयी है.

लिंक कर क्लिक करने के साथ सरकारी वेबसाइट खुल जाती है. इस तरह बेरोजगारों को फंसाने के लिए कंपनी ने जाल बिछाया है, ताकि किसी को भी इस पर शक न हो कि यह फर्जी वेबसाइट है. प्रबंधन का कहना है कि एससीसीएल नाम वाली कोई भी सहायक कंपनी नहीं है और यह धोखाधड़ी करने हेतु बनायी गयी है. कंपनी नये जॉब के लिए अपनी वेबसाइट के माध्यम से जानकारी देती है.

इसे भी पढ़ें : कोडरमा: अभ्रक खदान धंसने से दंपती की मौत,घटना के दूसरे दिन पहुंची पुलिस

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close