Corona_UpdatesGiridihJharkhand

#Corona के खौफ पर आस्था भारी, गिरिडीह की मस्जिदों में नमाज हुई, सुहागिनों ने गणगौर पूजा की

Giridih: कोरोना का खौफ व लॉकडाउन ने भले ही हर गतिविधि को ठप कर दिया हो, लेकिन आस्था पर कोरोना का फिलहाल कोई खौफ गिरिडीह में तो नहीं दिख रहा है.

एलान के बाद शुक्रवार को मस्जिदों के इमाम समेत तीन लोग नमाज अदा करते दिखे, वहीं दुर्गा मंडपों में पुजारी ही सिर्फ नियमित रूप से नवरात्र के अनुष्ठान को पूरा कर रहे हैं.

सोशल डिस्टेंसिंग के बीच हर रोज मंडपो में पुजारी के वैदिक मंत्रोच्चार के साथ माता आदिशक्ति का आह्वान किया जा रहा है. कोरोना के इसी खौफ के बीच शुक्रवार को सुहागिनों ने सुहाग की लंबी आयु का व्रत गणगौर की पूजा-अर्चना पूरे विधि-विधान के साथ की.

इसे भी पढ़ें : #British प्रधानमंत्री #BorisJohnson हुए कोरोना पॉजिटिव, खुद को किया आइसोलेट

महिलाओं ने घरों में की पूजा

हर साल गणगौर की पूजा-अर्चना सुहागिनें जहां पूरे उत्साह के साथ करती थीं, वहीं इस बार कोरोना को लेकर किये गये लॉकडाउन का कुछ असर रहा कि गिरिडीह में चंद महिलाओं ने ही घरों में पूजा की.

लेकिन पूरे उत्साह के साथ कर शुक्रवार को व्रत का पारण किया. शहर के कुटिया गली मंदिर स्थित आवास में मां-बेटी ने मिलकर गणगौर के रूप में भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा-अर्चना कर हर विधि-विधान को पूरा किया.

होलिका दहन की राख से जहां शिव-पार्वती की मूर्ति तैयार कर पूरे 16 दिन अनुष्ठान कर सुहाग की लंबी आयु की कामना की गयी. वहीं अंतिम दिन शुक्रवार को ही सुहागिनों ने 16 श्रृंगार कर गणगौर की पूजा त्योहार के प्रचलित गीतों के साथ खास तौर पर करने के साथ ही शिव-पार्वती की मूर्तियों का विसर्जन किया.

इसे भी पढ़ें : #CoronavirusOutbreak: बाहर फंसे गिरिडीह जिले के मजदूरों के लिए सिर्फ एक MLA ने रिलीज किया फंड, मुंबई में दर्जन भर फंसे

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close