न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फेयर प्राइस शॉप डीलर एसोसिएशन का जेल भरो अभियान 25 को दिल्ली में

296

Dumka: फेयर प्राइस शॉप डीलर एसोसिएशन की बैठक दुमका के राखावनी स्थित प्रदेश कार्यालय में आयोजित की गयी.  बैठक में जिला मुख्यालय सहित सभी 10 प्रखंडों के जन वितरण प्रणाली विक्रेता एवं स्वयं सहायता समूह की महिलाएं मौजूद थे. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह प्रदेश अध्यक्ष ओंकारनाथ झा ने संगठन द्वारा किये जा रहे संघर्ष की रूपरेखा से विक्रेताओं को अवगत कराया. इस दौरान उन्होंने कहा कि आगामी 25 सितंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में देश भर के जनवितरण विक्रेताओं द्वारा जेल भरो अभियान का कार्यक्रम रखा गया है.

इसे भी पढ़ें: सांसद शिबू सोरेन और मंत्री लुईस मरांडी का है क्षेत्र, लेकिन श्रमदान कर सड़क बनाने को मजबूर ग्रामीण

कार्यक्रम में झारखंड से लगभग 25 हजार विक्रेता भाग लेंगे

hosp3

कार्यक्रम में झारखंड से लगभग 25 हजार विक्रेता भाग लेंगे.  उन्होंने कहा कि जेल भरो अभियान के दौरान 24 सितंबर से लेकर 26 सितंबर तक प्रदेश की सभी जन वितरण प्रणाली दुकानें बंद रहेंगी.  उन्होंने केंद्र सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि 2014 में जनवितरण विक्रेताओं द्वारा आयोजित धरना कार्यक्रम में केंद्र सरकार के कई मंत्रियों ने जन वितरण प्रणाली विक्रेताओं को 30 हजार रुपये मानदेय देने के साथ ही अन्य सुविधाएं देने की घोषणा की थी, मगर सत्तासीन होने के बाद सरकार अपने वादे से मुकर गयी.

इसे भी पढ़ें: 2019 में भाजपा को उखाड़ फेंकना है: बाबूलाल मरांडी

सरकार अपनी नाकामी का ठीकरा डीलरों के माथे फोड़ रही है

भोजन का अधिकार अधिनियम के आलोक में कहा कि आज भी 33% लोग राशन से वंचित हैं.  सरकार अपनी नाकामी का ठीकरा डीलरों के माथे फोड़ रही है.  राशनकार्ड का निर्माण सरकार खुद करती है ओर रद्द करने के लिए डीलरों पर दबाव बनाया जाता है.  इस अवसर पर हाल ही में दुमका जिले में अपने स्थानांतरण के बावजूद जिला आपूर्ति पदाधिकारी द्वारा थोक भाव में स्वयं सहायता समूहों को राशन दुकानों का लायसेंस देने की जांच की मांग करते हुए नयी दुकानों का आवंटन तत्काल रोकने की मांग की गयी. साथ ही केरेासिन से डीवीटी खत्म करने, केरेासिन का बकाया कमीशन का भुगतान करने, ई पॉस मशीन में 4जी सिम लगाने,  आवंटन में एकरूपता लाने,   सहित अन्य ज्वलंत मुद्दों पर सरकार से बात करने का निर्णय लिया गया.  बैठक मे जिला समिति सदस्य के साथ ही सभी प्रखंडों के विक्रेता मौजूद थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: