न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीसीटीवी कैमरा से चालान का ट्रायल शुरू होने से पहले हुआ फेल, अब 15 दिसंबर से शुरू होगा

25

Ranchi: राजधानी रांची में 16 चौक चौराहे पर सीसीटीवी कैमरा से चालान की शुरुआत का ट्रायल शुरू होने से पहले ही फेल हो गया. ट्रायल के फेल होने के बाद अब ट्रैफिक पुलिस के द्वारा कहा जा रहा कि अब 15 दिसंबर से ट्रायल शुरू होगा. 10 दिसंबर यानी सोमवार को ट्रैफिक पुलिस ना कहीं किसी ट्रैफिक पोस्ट पर ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले को पकड़ती दिखी और ना ही कहीं सीसीटीवी कैमरे से चालान काटा गया.

 एक जनवरी से कटेगा चालान 

सीसीटीवी कैमरा से चालान की शुरुआत का ट्रायल शुरू करने योजना 10 दिसंबर को फेल होने के बाद अब ट्रैफिक पुलिसकर्मियों के द्वारा कहा जा रहा है कि पूरी तैयारी के साथ 15 दिसंबर से ट्रायल की शुरुआत की जाएगी. जिसके बाद एक  जनवरी से पूरी तैयारी के साथ ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों का चालान काटा जायेगा.

 अधूरी तैयारी के साथ शुरू हुई थी योजना

शहर में 16 चौक चौराहे पर 10 दिसंबर से अधूरी तैयारी के साथ सीसीटीवी से चालान काटने का ट्रायल शुरू होना था लेकिन जो शुरू होने से पहले से फेल हो गया.आनन-फानन में चालान काटने का निर्देश तो दे दिया गया था लेकिन न तो सही तरीके से ट्रैफिक सिग्नल काम कर रहा है और न ही जेब्रा क्रॉसिंग व स्टॉप लाइन ही दिख रही है. इसके बावजूद ट्रैफिक पुलिस चालान काटने की तैयारी में थी. जिसके वजह से 15 दिसंबर को ट्रायल शुरू करने की बात अब कहीं जा रही है.

 इस स्थानों पर मैनुअल संचालित होती है ट्रैफिक 

बिरसा चौक, प्रेम संस मंदिर चौक, सुजाता चौक, जेल चौक, अरगोड़ा चौक, चांदनी चौक, सर्जना चौक, करमटोली चौक, सहजानंद चौक, हिनू चौक, कचहरी चौक, बूंटी मोड़ चौक, रातू रोड चौक, एजी मोड़ चौक, सिरमटोली चौक और लालपुर चौक। जबकि आलम यह है कि इनमें ज्यादातर जगहों पर ट्रैफिक सिग्नल व्यस्ततम समय पर काम नहीं करता. ट्रैफिक पुलिस के जवान मैनुअली ट्रैफिक संचालित करते हैं.

 ट्रैफिक नियम को तोड़ने पर घर पर पहुंचेगा चालान 

ट्रैफिक सिग्नल तोड़ने वालों को अब चालान भरने से कोई नहीं बचा पाएगा. ट्रैफिक सिग्नल तोड़ कर अगर कोई भाग रहा है तो वह सीसीटीवी कैमरे में कैद हो जाएगा और उसके गाड़ी के नंबर में दर्ज पते पर चालान पहुंच जाएगा.यह नियम अभी 10  दिसंबर से लेकर 31 दिसंबर तक ट्रायल के तौर पर शुरू किया जाना था. लेकिन ये शुरू होने से पहले फेल हो गया अब कहा जा रहा ये 15 दिसंबर से शुरू होकर 31 दिसंबर तक ट्रायल चलेगा इसके बाद एक जनवरी से यह नियम पूर्ण रूप से लागू हो जाएगा. जो भी व्यक्ति ट्रैफिक सिग्नल तोड़कर भाग लेंगे उनका नंबर लगे हाई स्पीड सीसीटीवी कैमरे में कैद हो जायेगा और कैमरे में कैद वाहन के नंबर पर चालान तैयार होकर सीधे घर पर पहुंचेगा.

 इन चौक चौराहे पर लगे हैं हाई स्पीड सीसीटीवी कैमरे 

जेल चौक,अरगोड़ा चौक, चांदनी चौक, सर्जना चौक ,बिरसा चौक, प्रेमसंस मंदिर चौक, सुजाता चौक, करम टोली चौक ,सहजानंद चौक ,हिनू चौक कचहरी चौक बूटी मोड़ चौक ,रातू रोड चौक,एजी मोड चौक, सिरम टोली चौक, और लालपुर चौक पर हाई स्पीड सीसीटीवी कैमरे लगाए गये है.

 शहर में है ट्रैफिक पुलिस की कमी 

राजधानी रांची में ट्रैफिक व्यवस्था को संभालने के लिए 500 ट्रैफिक पुलिस की जरूरत है.लेकिन वर्तमान में 194 ट्रैफिक पुलिस ट्राफिक वस्था को संभालने में लगे हुए हैं जो कि पर्याप्त नहीं है. कहा जा रहा है कि अगले महीने 100 ट्रैफिक पुलिस राजधानी रांची को मिलने वाले हैं. 100 ट्रैफिक पुलिस के मिलने से ट्रैफिक व्यवस्था संभालने में थोड़ी सहूलियत होगी.

इसे भी पढ़ेंः पलामू पुलिस को सफलताः एक इनामी नक्सली का सरेंडर, एक गिरफ्तार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: