National

#JNUattack : कांग्रेस की fact finding committee ने कहा, सरकार प्रायोजित था हमला, स्वतंत्र जांच होनी चाहिए

विज्ञापन

NewDelhi :  जेएनयू में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस द्वारा बनाई गयी एक तथ्यान्वेषण समिति ने जांच कर कहा कि पांच जनवरी को विश्वविद्यालय पर हुआ हमला सरकार प्रायोजित था. समिति ने विश्वविद्यालय के कुलपति एम जगदीश कुमार को विश्वविद्यालय से बर्खास्त किये जाने और उनके खिलाफ आपराधिक जांच शुरू किए जाने की मांग की.

समिति की सदस्य सुष्मिता देव ने कहा कि कुमार को तत्काल पद से हटाया जाना चाहिए और संकायों में हुई सभी नियुक्तियों की जांच होनी चाहिए और मामले की स्वतंत्र जांच होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें :  पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, 2-3 आतंकियों के छिपे होने की आशंका

advt

षडयंत्र रचने वालों की जांच होनी चाहिए

महिला कांग्रेस प्रमुख ने कहा, कुलपति, विश्वविद्यालय में सुरक्षा मुहैया करानी वाली एजेंसी और संकाय के उन सदस्यों के खिलाफ जांच होनी चाहिए जिन्होंने साबरमती, पेरियार छात्रावास और अन्य स्थानों पर हमला करने के लिए साथ मिलकर षडयंत्र रचा. सुरक्षा मुहैया कराने वाली कंपनी की संविदा तत्काल खत्म होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें :#Congress_Working_Committee ने कहा,  CAA असंवैधानिक और विभाजनकारी कानून, वापस ले मोदी सरकार

जेएनयू में फीस वृद्धि पूरी तरह से वापस ली जाये  

सुष्मिता देव ने कहा, ‘ यह स्पष्ट है कि जेएनयू परिसर पर हमला सरकार प्रायोजित है. उन्होंने जेएनयू में फीस वृद्धि को पूरी तरह से वापस लिये जाने की मांग की.  समिति में अन्य सदस्य सांसद एवं एनएसयूआई के पूर्व अध्यक्ष हिबी एदन, सांसद एवं जेएनयू एनएसयूआई के पूर्व अध्यक्ष सैय्यद नसीर हुसैन और एनएसयूआई के पूर्व अध्यक्ष और दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ की पूर्व अध्यक्ष अमृता धवन शामिल थे

adv

जान लें कि जेएनयू में पांच जनवरी को नकाबपोश कुछ लोगों ने लाठियों और लोहों की छड़ों से विद्यार्थियों और संकाय सदस्यों पर हमला कर दिया था और विश्वविद्यालय की संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया था. विश्वविद्यालय में वामपंथी संगठन और आरएसएस संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इसको लेकर एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #Raisina_Dialogue14 से 16 जनवरी तक दिल्ली में, 17 देशों के मंत्री शामिल होंगे, बांग्लादेश की ना

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button