NEWSWorld

फेसबुक, ट्विटर, गूगल ने हांगकांग छोड़ने की धमकी दी, जानें क्या है कारण

DESK: फेसबुक, ट्विटर और गूगल ने हांगकांग सरकार को चेतावनी दी है कि अगर अधिकारी डेटा सुरक्षा कानूनों में योजनाबद्ध बदलाव के साथ आगे बढ़ते हैं, तो वे इस क्षेत्र में काम करना बंद कर सकते हैं. ये कानून उन्हें व्यक्तियों की ऑनलाइन जानकारी के दुर्भावनापूर्ण साझाकरण के लिए उत्तरदायी बना सकता है.

इसे भी पढ़ें : अलविदा ट्रेजेडी किंगः ‘ज्वार भाटा’ से फूटा  ज्वार ‘किला’ निर्माण कर ही थमा

द वॉल स्ट्रीट जर्नल की खबर के मुताबिक एक इंडस्ट्री ग्रुप द्वारा भेजे गए एक पत्र जिसमें इंटरनेट फर्म शामिल हैं, उसमें कहा गया है कि कंपनियां चिंतित हैं कि डॉक्सिंग को संबोधित करने के लिए नियोजित नियम उनके कर्मचारियों को आपराधिक जांच या फर्मों के उपयोगकर्ता ऑनलाइन पोस्ट करने से संबंधित अभियोजन के जोखिम में डाल सकते हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि डॉक्सिंग लोगों की व्यक्तिगत जानकारी को ऑनलाइन डालने की प्रथा को संदर्भित करता है, जिससे उन्हें दूसरों द्वारा परेशान किया जा सके.

ram janam hospital
Catalyst IAS

डेटा-संरक्षण कानून में संशोधन का प्रस्ताव

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

हांगकांग के डाटा प्रोटेक्शन कानून में लोगों की निजी जानकारियां इंटरनेट पर प्रसारित करने से रोकने के संबंध में कुछ नए प्रविधान जोड़ने की बात कही गई थी. इस प्रस्ताव में सजा 1.28 लाख डालर (10 लाख हांगकांग डालर) का जुर्माना और पांच साल तक की कैद की सजा का प्रावधान है. इन प्रतिबंधों से बचने का बस यही तरीका है कि आइटी कंपनियां हांगकांग में निवेश करना और सेवाएं देना बंद कर दें

 

सिंगापुर स्थित एशिया इंटरनेट गठबंधन के 25 जून के पत्र में कहा गया है, “प्रौद्योगिकी कंपनियों के लिए इन प्रतिबंधों से बचने का एकमात्र तरीका हांगकांग में निवेश और सेवाओं की पेशकश से बचना होगा, जिसकी समीक्षा द वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा की गई थी.” अमेरिका की कुछ सबसे शक्तिशाली फर्मों और हांगकांग के अधिकारियों के बीच तनाव पैदा हो गया है क्योंकि बीजिंग शहर पर नियंत्रण बढ़ा रहा है और राजनीतिक असंतोष पर शिकंजा कस रहा है.

हांगकांग में चीनी प्रशासन का कब्जा

हांगकांग की नेता कैरी लैम ने कहा कि वित्तीय केंद्र पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत चीनी प्रशासन का कब्जा होता जा रहा है. उन्होंने कहा कि एक साप्ताहिक कांफ्रेंस में सरकारी आदेश से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा नहीं हो सकता है. लैम के वक्तव्य के बाद पुलिस ने कहा कि नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है. आतंकी गतिविधियों के संदेह में गिरफ्तार किए गए इन छात्रों में कुछ तो माध्यमिक शिक्षा के हैं. पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार किए गए लोग आतंकी गतिविधियों में शामिल हैं और वह बम विस्फोट की साजिश में लिप्त पाए गए. इन पर आरोप है कि इन्होंने टीएटीपी बमों से अदालतों, सुरंगों, रेलों को उड़ाने की साजिश रची है.

 

इस साल के अंत तक लागू हो सकता है कानून

हांगकांग के प्राइवेसी कमिश्नर फॉर पर्सनल डेटा ने इस लेटर को स्वीकार किया लेकिन कहा कि डॉक्सिंग द्वारा नैतिकता और कानून की सीमाओं को पार करने के कारण नए कानून की आवश्यकता थी. इसके साथ ही कमिश्नर ने यह भी कहा कि कानून में हुए इस बदलाव का अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर “कोई असर नहीं पड़ेगा”, और हांगकांग क्षेत्र में बाहरी निवेश को रोक नहीं पाएंगे. कानून में किया गए बदलाव को इस वर्ष के अंत तक अप्रूव किया जा सकता है.

Related Articles

Back to top button