JharkhandLead NewsRanchi

अतिक्रमण हटाने के नाम पर आइवॉश, फुटपाथ से लेकर आधी सड़क तक पहुंचीं दुकानें

Ranchi : राजधानी रांची को जाम मुक्त बनाने को लेकर हाइकोर्ट ने फटकार लगायी थी. वहीं इसके लिए नगर की सरकार ने भी जोर लगाया. वहीं ट्रैफिक पुलिस भी इस काम में नगर निगम को सहयोग कर रही थी. कुछ दिनों तक तो सबकुछ ठीक रहा. गाड़ियों से लेकर दुकानों को हटाने का सिलसिला जारी रहा. इसके बावजूद आज शहर की मुख्य सड़कों की स्थिति जस की तस बनी हुई है. वहीं एमजी रोड में तो दुकानें आधी सड़क तक पहुंच चुकी हैं. इसके बावजूद इन वेंडरों पर नगर निगम कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. जिससे समझा जा सकता है कि कैसे रांची नगर निगम शहर में अतिक्रमण हटाने के नाम पर केवल आइवॉश करने में लगा है.

इसे भी पढ़ें :  कुतुब मीनार परिसर में पूजा के अधिकार पर फैसला सुरक्षित, 9 जून को आएगा आदेश

Catalyst IAS
SIP abacus

वाइट लाइन के पीछे रखनी थी दुकान

Sanjeevani
MDLM

रांची नगर निगम ने सड़क के किनारे दुकानें लगाने पर रोक लगा दी है. जिसके तहत फुटपाथ वेंडर्स को दुकान किसी भी हाल में नहीं लगाना है. अगर कुछ दुकानें लगती भी हैं तो उसे वाइट लाइन के पीछे लगाने का निर्देश दिया गया था. जिससे रोड भी खाली रहे और जाम की स्थिति न हो. इतना ही नहीं फुटपाथ को भी खाली रखने को कहा गया था. जिससे पैदल चलनेवालों को कोई परेशानी न हो. लेकिन ये सभी दावे हवा हवाई हो गये हैं.

रिश्तेदारों की खोल दी दुकानें

मेन रोड में दुकान लगानेवाले वेंडरों को अटल स्मृति वेंडर मार्केट में दुकानें दी गयी हैं. साथ ही उन्हें हिदायत दी गयी थी कि अब वे फुटपाथ पर या रोड किनारे दुकाने नहीं लगायेंगे. इसके बावजूद वेंडरों ने अपने रिश्तेदारों और परिजनों को दुकान खोल कर दे दी है. जिससे दुकानदारों को वेंडर मार्केट में शिफ्ट करने के बाद भी स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ें : JHARKHAND: दो साल में तैयार होगा नया प्रशासनिक प्रशिक्षण संस्थान भवन, खर्च होंगे 152 करोड़

Related Articles

Back to top button