Ranchi

निजी स्वार्थ के लिए रिसालदार बाबा दरगाह का उपयोग कर रही कार्यकारिणी समिति: डोरंडा महापंचायत

विज्ञापन

Ranchi: रिसालदार बाबा की मजार से न सिर्फ डोरंडा के मुस्लिम समुदायों की बल्कि राजधानी के सभी धर्मावलंबियों की आस्था जुड़ी है. लेकिन ऐसे में जरूरी है कि इस पाक स्थल को निजी स्वार्थ के लिए उपयोग में नहीं लाया जाये.

वर्तमान में दरगाह कार्यकारिणी समिति अपने निजी के स्वार्थ के लिए मजार और इसके मैदान का उपयोग कर रही है. उक्त बातें डोरंडा महा पंचायत की ओर से आयोजित प्रेस वार्ता में कहीं गई.

इसे भी पढ़ेंःदरिंदगीः पिता ने अपने दो बेटों को जिंदा जलाया, एक की मौत-दूसरा लड़ रहा जिंदगी की जंग, पत्नी गंभीर 

advt

प्रेस को अध्यक्ष मो शमीम अख्तर ने संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि वर्तमान वक्फ बोर्ड और दरगाह कार्यकारिणी समिति मिलकर अपने निजी स्वार्थ के लिए मैदान में एटीएम लगाने समेत दुकानें खोलने का काम कर रहे है. इन कार्यों के लिए नेताओं और प्रशासन को भी भ्रमित किया जा रहा है. ताकि मजार परिसर का गलत उपयोग किया जा सकें.

मजार को बनाया जा रहा कमाई का जरिया

शमीम ने कहा कि मजार और इसकी संपत्ति को कमाई का जरिया बनाया जा रहा है. जबकि यह लोगों की आस्था से जुड़ा है. जिसका डोरंडा पंचायत पुरजोर विरोध करती है. उन्होंने कहा कि जानकारी प्रशासन को भी है. लेकिन फिर भी इसमें हस्तक्षेप नहीं किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंःधनबादः हाईटेंशन तार की चपेट में आने से मजदूर की मौत, लापरवाही को लेकर लोगों का हंगामा

उन्होंने कहा कि डोरंडा पंचायत क्षेत्र की भारी मुस्लिम आबादी का प्रतिनिधित्व करती है. और यह मजार राजधानी में लगभग 1808 से है. ऐसे में इसकी छवि धूमिल नहीं करनी चाहिए.

adv

राज्य सुन्नी वक्फ बोर्ड नहीं ले रहा संज्ञान

इस दौरान जानकारी दी गई कि मजार की संपत्तियों से जुड़ें मामले पर राज्य सुन्नी वक्फ बोर्ड को कई बार जानकारी दी गई है. लिखित आवेदन देने के बाद भी वक्फ बोर्ड इस पर कार्रवाई नहीं कर रहा है.
इस तरह से मजार की संपत्ति का दुरुपयोग किया जा रहा है. इस संबध में पूर्व में उच्च न्यायालय से आदेश भी जारी किया गया. इसके बाद भी दरगाह में निर्माण कार्य जारी है. शमीम ने कहा कि यह स्थान लोगों की आस्था से जुड़ा है ऐसे में ध्यान रखना चाहिए की आस्था पर चोट न हो.

इसे भी पढ़ेंःईवीएम के खाली बक्से लेकर जा रहे ट्रक को भीड़ ने रोका, नारेबाजी, जतायी ईवीएम बदलने की आशंका

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button