BiharCrime NewsLead News

Gopalganj में उत्पाद विभाग की टीम ने Luxury Car से जब्त की 233 किलो चांदी, दो गिरफ्तार

Gopalgunj: जिले में शराब की टोह में निकली उत्पाद विभाग की टीम ने चांदी से भरा एक लग्जरी कार पकड़ा है. कार से 232 किलो 950 ग्राम चांदी मिली है. वहीं उत्पाद विभाग की टीम ने दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. चांदी को कानपुर से दरभंगा भेजा जा रहा था. यह काईवाई उत्पाद विभाग की टीम के द्वारा कुचायकोट थाना क्षेत्र के बलथरी चेकपोस्ट के पास एनएच-27 पर की गई है.

ये भी पढ़े :  नालंदा में युवक की संदिग्ध मौत, परिजनों ने शराब से मौत की बात कही

बताया जाता है की रोज़ की तरह बुधवार को भी उत्पाद विभाग की टीम बलथरी चेकपोस्ट पर यूपी से आनेवाली सभी गाड़ियों की जांच कर रही थी. जांच के दौरान पुलिस को देखकर एक कार सवार भागने की कोशिश करने लगा. लेकिन उत्पाद विभाग की टीम ने चारों तरफ से घेर कर कार को जब्त कर लिया. उसके बाद जब कार की बारीकी से जांच की गयी जो पीछे सीट के नीचे तहखाना मिला. तहखाना के अंदर चांदी के 176 सिल्ली पाए गए. जिसका वजन 232 किलो 950 ग्राम था. उत्पाद विभाग की टीम ने गाड़ी के चालक और एक अन्य व्यक्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ किया तो पता चला कि इस चांदी की तस्करी कानपुर से दरभंगा के लिए हो रही है. कार से चांदी के साथ पकड़े गए तस्करों की पहचान दरभंगा जिला के नगर थाना क्षेत्र के बड़ा बाजार निवासी मनोज गुप्ता और ड्राइवर शिव शंकर महतो के रूप में की गई है.

Chanakya IAS
SIP abacus
Catalyst IAS

उत्पाद अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि जब कार की बारीकी से जांच की गयी जो पीछे सीट के नीचे तहखाना मिला. तहखाना के अंदर चांदी के ईंट मिले है. उन्होंने बताया की वाणिज्य कर विभाग को सुचना दे दी गयी है. उनके भी अधिकारी पूछताछ कर रहे है. वहीं आगे की कार्रवाई हेतु पूरा मामला कुचायकोट थाना को सुपुर्द किया जा रहा है.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani

वहीं गिरफ्तार मनोज कुमार गुप्ता ने बताया की वह कानपुर से चांदी की खेप लेकर दरभंगा जा रहा था. चांदी के कागजात को पहले ही व्हाट्सएप के जरिए दरभंगा भेज दिया गया है. लेकिन वह अपने साथ कोई कागजात नहीं ले जा सका. गिरफ्तार व्यक्ति ने बताया की जब्त की गई चांदी का वजन 110 किलोग्राम है.

ये भी पढ़े : Jharkhand: सब्सिडी पर खाद लेने वाले किसानों को भी दूसरी सरकारी योजनाओं का मिलेगा लाभ

Related Articles

Back to top button