Education & CareerJharkhandRanchi

#Lockdown के बाद होगी नीलांबर-पीतांबर विवि में परीक्षाएं, ई-लर्निंग से पूरा हो रहा सिलेबस

विज्ञापन

Ranchi: नीलांबर पीतांबर यूनिवर्सिटी, मेदिनीनगर के कुल सचिव डॉ जयंत शेखर की अध्यक्षता में विवि के अंगीभूत कॉलेजों के प्राचार्यों की बैठक हुई. इस बैठक में छात्रहित को लेकर कई निर्णय लिये गये.

बैठक के संबंध में कुल सचिव ने बताया कि विवि की ओर से विभिन्न कोर्स के सिलेबस ऑनलाइन माध्यम से 90 फीसदी पूरे किये जा चुके हैं. जो सिलेबस पूरा नहीं हुआ है, वह विवि डिपार्टमेंट में शिक्षकों की कमी की वजह से नहीं हो पाया है.

जिस कॉलेज में संबंधित विषय के शिक्षक की कमी की वजह से सिलेबस अधूरा रह गया है, उसे दूसरे कॉलेज के शिक्षक की मदद से पूरा किया जाये.

advt

इसे भी पढ़ें : #FightAgainstCorona : राहत भरी खबर, कोई नया केस नहीं, 5 पॉजिटिव मरीजों के सैंपल निगेटिव पाये गये

शिक्षकों का वेतन जारी करने के लिए ये शर्त

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि शिक्षकों के मार्च व अप्रैल माह का वेतन तभी जारी किया जायेगा जब शिक्षक अपना-अपना इ-क्लास लेने का ब्योरा विषय और क्लास के अनुसार दिये गये फॉर्मेट में भर कर संबंधित कॉलेज के प्राचार्य से सत्यापित करायेंगे.

इस लॉक डाउन के दौरान जो विडियो क्लासेस तैयार किये गये हैं, उनकी मदद से विश्वविद्यालय प्रशासन डिजीटल लाइब्रेरी डेवलप करेगी जिसका लाभ विद्यार्थी भविष्य में करेंगे.

बैठक में यह चर्चा हुई की जीएलए कॉलेज को छोड़कर बाकी सभी कॉलेजों का रजिस्ट्रेशन पूरा किया जा चुका है. वहीं क्वेश्चन पेपर भी सेट किया जा चुका है. लॉक डाउन खत्म होते ही परीक्षाएं ले ली जायेंगी. कुछ विषयों के क्वेश्चन सेट नहीं हुए हैं, उन्हें जल्द ही पूरा कर लिया जायेगा.

adv

इसे भी पढ़ें : गिरिडीह : फरियाद लेकर पहुंची पीड़ित महिला के साथ गांवा थाना प्रभारी ने किया अभद्र व्यवहार, देखिये वीडियो में क्या कहा

पुल ऑफ काउंसेलर्स तैयार

कुल सचिव ने बताया कि विवि में पुल ऑफ काउंसेलर्स तैयार किया गया है. इसके माध्यम से सभी कॉलेज के प्राचार्य और शिक्षक स्टूडेंट्स के तालमेल बैठाकर अपने अपने विभाग के स्टूडेंट्स और अभिभावकों के साथ आवश्यकतानुसार गूगल मीटिंग के जरिए काउंसलिंग करेंगे.

विवि द्वारा इ-लर्निंग कंटेंट को नि:शुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है. छात्रों को लाभ मिल सके इसके लिए कल स्नातक के छात्रों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग का आयोजन किया गया है जिसमें स्टूडेंट्स के साथ शिक्षक भी शामिल होंगे.

उन्होंने यह भी बताया कि वोकेसनल कोर्स के शिक्षकों का कांट्रेक्ट रिन्यू नहीं होने की वजह से अक्टूबर 2019 से वेतन नहीं दिया गया है. कोर्स संचालित करने वाले कॉलेज के प्राचार्य ऐसे शिक्षकों के कांट्रेक्ट रिन्यू करने का लेटर भेजे जिसके बाद वेतन जारी किया जा सकेगा.

इसे भी पढ़ें : आदेश के बाद भी औद्योगिक इकाइयों को खोलने में हो रही परेशानी, उपायुक्तों की गाइडलाइन अलग-अलग

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button