Lead NewsNationalOFFBEAT

सद्भावना की मिसाल :  मुस्लिम दंपती ने राम मंदिर निर्माण के लिए 1.51 लाख रुपये दिये, अयोध्या में जाकर मत्था टेका

गुजरात के रहनेवाले दंपती ने मांगी मन्नत- जल्द बने रामलला का मंदिर

Ahmadabad :  भगवान श्रीराम भारतवासियों के लिए आस्था के सबसे बड़े प्रतीकों में शामिल हैं. उनके जन्मस्थान अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए पूरे देश भर में लोगों से दान लेने का अभियान चल रहा है. इस अभियान में हिंदुओं के साथ-साथ अन्य समुदाय के लोग भी सहयोग कर रहे हैं. इस कड़ी में सद्भावना की मिसाल कायम करते हुए गुजरात के ही रहने वाले एक मुस्लिम दंपती ने भी 1.51 लाख रुपये का दान दिया है.

मंदिर निर्माण के लिए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अलावा विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) देशभर में धन एकत्रित करने का अभियान चला रहे हैं. यह अभियान करीब डेढ़ महीने तक चलेगा. इसमें हर कोई अपनी इच्छाशक्ति के अनुसार चंदा दे सकता है.

इसे भी पढ़ें :हटिया रेलवे स्टेशन पर दो लिफ्ट शुरू, लोहरदगा-टोरी लाइन से राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन जल्द

पेशे से डॉक्टर है यह मुस्लिम दंपती

1.51 लाख रुपये का दान करने वाला यह मुस्लिम दंपती पेशे से डॉक्टर है. ये लोग पाटन के रहने वाले हैं. डॉक्टर हामिद मंसूरी और मुमताज मंसूरी ने कहा कि राम मंदिर के लिए दान करने का उनका मकसद मानवता और भाईचारे को बढ़ाना है. खास बात है कि गुजरात में ऐसा पहला दान होगा जो किसी हिंदू के जरिये नहीं बल्कि मुस्लिम ने किया है.

मुस्लिम से पहले भारतीय होने का है गर्व

डॉक्टर हामिद मंसूरी ने बताया कि उनकी आस्था मानवता में है. खुद मुस्लिम होने की वजह से कभी उन्होंने किसी भी धर्म को लेकर भेदभाव नहीं रखा. सिर्फ इंसानियत को ही सबसे बड़ा धर्म समझा है और उन्हें मुस्लिम होने से पहले भारतीय होने का गर्व है. उन्होंने बताया कि वे भारत के कई मंदिरों के दर्शन कर चुके हैं.

इसे भी पढ़ें :लालू प्रसाद की ओर से हाइकोर्ट में जवाब दाखिल, कहा- दुमका कोषागार मामले में आधी सजा काट चुके, जमानत पर हो जल्द सुनवाई

अयोध्या जाकर रामलला के मंदिर में टेका माथा

डॉक्टर हामिद मंसूरी ने बताया कि दान करने से कुछ समय पहले ही वे पत्नी के साथ अयोध्या भी गये थे. वहां उन्होंने रामलला के मंदिर में माथा टेका. वहां पर उनकी पत्नी डॉक्टर मुमताज मंसूरी ने मन्नत मांगी थी कि राम मंदिर जल्द बन जाये. अब जब ये मंदिर बन रहा है तो इस दंपती ने मंदिर निर्माण के लिए दान भी दिया.

मन्नत थी कि जल्द बन जाए मंदिर

डॉक्टर मुमताज मंसूरी ने कहा कि मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है. जब राम मंदिर निर्माण का फैसला नहीं आया था तब भी मेरी यही मन्नत थी कि यह मंदिर जल्द बन जाए और आज वह मन्नत पूरी हो रही है. मैं अपने आपको काफी भाग्यशाली मान रही हूं.

गुजरात में अब तक जमा हुए 31 करोड़

बता दें, राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा करने के अभियान की शुरुआत 14 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से दान लेकर की गयी थी. उन्होंने राम मंदिर के लिए सबसे पहले चंदा दिया और अभियान को हरी झंडी दिखाई. राष्ट्रपति कोविंद ने चेक के जरिये पांच लाख रुपये का चंदा ट्रस्ट को सौंपा था. अब तक गुजरात में राम मंदिर के निर्माण के लिए 31 करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं.

इसे भी पढ़ें :Good  News :  अब मोबाइल फोन, लैपटॉप या कंप्यूटर से डाउनलोड करें वोटर आईडी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: