JamshedpurJharkhand

Jamshedpur : मरने के बाद भी दुनिया देखेगी डॉक्टर कृष्णा चौधरी की आंखें, दो लोगों के जीवन में आएगी रोशनी

Jamshedpur : शहर के प्रसिद्ध डॉक्टर कृष्णा चौधरी की मौत के बाद भी उनकी आंखें रोशनी देती रहेगी. मारवाड़ी महिला मंच, जमशेदपुर की पहल पर डॉक्टर चौधरी के निधन के पश्चात उनकी पत्नी डॉक्टर रेणुका चौधरी, पुत्र सौरभ चौधरी एवं पुत्रवधू दिशा चौधरी की सहमति से नेत्रदान करवाया गया. इससे दो लोगों के जीवन में रोशनी आएगी. इस नेक कार्य में रोशनी संस्था की अध्यक्ष तरु गांधी एवं सीता जोशी समेत डॉ अजय गुप्ता (नेत्र विशेषज्ञ) की अहम भूमिका रही. इस पुनीत कार्य के लिए मारवाड़ी महिला मंच जमशेदपुर शाखा ने चौधरी परिवार एवं रोशनी संस्था के प्रति आभार व्यक्त किया है. यह जानकारी महिला मंच की सुशीला खीरवाल ने दी. उन्होंने बताया कि मारवाड़ी महिला मंच जमशेदपुर शाखा पिछले कई सालों से नेत्रदान महादान पर अभियान चला रही है. इससे पहले भी मृत्यु के पश्चात नेत्रदान करवाने में सक्षमता मिली है. कोविड-19 के तहत विगत 2 वर्षों से कोई भी नेत्रदान नहीं हो पाया था. उसके बाद पुनः यह पुनीत कार्य जोर-शोर से शुरू किया गया है. उन्होंने समाज के सभी वर्गों से अपील किया कि अगर किसी के घर में ऐसी घटना होती है और वे अगर नेत्रदान करवाने के लिए इच्छुक हो तो, सुशीला खीरवाल से मोबाइल नंबर-94319 52424 एवं सीमा अग्रवाल से मोबाइल नंबर-7858016351 पर संपर्क कर सकते हैं. इस कार्य के लिए संस्था सभी सेवाएं निःशुल्क प्रदान करती हैं. मारवाड़ी महिला मंच का नारा है जीते जी रक्तदान, मृत्यु पश्चात नेत्रदान. उन्होंने कहा कि अभी भी कई दृष्टिहीनों को इंतजार है ऐसे समाजसेवियों का, जो मर कर भी अमर होकर किसी को अपनी आंखें दे सके.

इसे भी पढ़ें-सांसद निशिकांत दुबे, मनोज तिवारी पहुंचे अंकिता के घर, परिजनों को दी 28 लाख की सहायता राशि

Related Articles

Back to top button