न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पोक्सो एक्ट के तहत रेप की धमकी देने का मामला दर्ज होने के बाद भी अबतक एजी अफसर की नहीं हुई गिरफ्तारी

23

Ranchi: घोटाले का खुलासा करने वाली संस्था एजी (महालेखाकार) कार्यालय में काम करने वाले अफसर सुरेंद्र कुमार पर गंभीर आरोप लगाने और मामला दर्ज कराने के बाद भी अबतक उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई है. ज्ञात हो कि नॉर्थ ऑफिस पाड़ा डोरंडा में एजी ऑफिस के ऑडिटर और उसके परिवार पर नाबालिग बच्ची से छेड़छाड़, मारपीट और रेप की धमकी देने का मामला सामने के बाद अफसर सुरेंद्र कुमार पर महिला थाना में मामला दर्ज कराया गया है. शिकायत दर्ज कराने के छह दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक अफसर पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है. बता दें कि डोरंडा थाना ने इस मामले में कार्रवाई नहीं की, जिसके बाद पीड़िता ने महिला थाना में शिकायत दर्ज करवाई थी.

इसे भी पढ़ेंःएक लाख करोड़ के ऑन गोईंग प्रोजेक्ट की रफ्तार धीमी, आपूर्तिकर्ताओं…

क्या है मामला

पीड़िता के द्वारा महिला थाना में दर्ज एफआईआर में कहा गया है कि एजी ऑफिस में काम करने वाले सुरेंद्र कुमार और उसके रिश्तेदार नवीन कुमार पिछले काफी दिनों से डोरंडा इलाके के प्रेमा अपार्टमेंट में रहनेवाली एक महिला और उनकी बेटियों के साथ दुर्व्यहार कर रहे थे. दीवाली की रात पटाखा जलाने से मना करने पर सुरेंद्र कुमार, उनके बेटे और पत्नी ने दुर्व्यवहार करते हुए गाली-गलौज की और अशोभनीय भाषा का प्रयोग करते हुए उनका रेप करने की धमकी दी.

डोरंडा थाना ने नहीं की कोई कार्रवाई

इस मामले को लेकर पहले डोरंडा थाना को सूचित किया गया था. डोरंडा थाना ने इस मामले में शिकायत पर कार्रवाई नहीं की. पीड़ित पक्ष ने आखिरकार महिला थाना में आवेदन दिया. जिसके बाद महिला थाना में मामला दर्ज कर लिया गया.

इसे भी पढ़ें- एसडीएम मैडम कहती रहीं No लाठीचार्ज, सिपाही पारा शिक्षकों पर बरसाते रहे लाठियां, एसडीएम ने कहा- गलत…

लगातार किया जा रहा था परेशान

महिला थाना में दिये गये आवेदन में महिला की बेटी ने कहा है कि सुरेंद्र कुमार और उनके परिवार के लोग पिछले कुछ महीनों से उन्हें लगातार परेशान कर रहे हैं. उनके सामने भद्दे इशारे करते हैं और उनके साथ गाली-गलौज और मारपीट करते हैं. दर्ज शिकायत में एजी अफसर सुरेंद्र कुमार, सोनी कुमारी, सार्थक कुमार और सत्यम कुमार के नाम हैं. इन पर आइपीसी की धारा 506, 509, 34 और पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

क्या कहा गया है आवेदन में

महिला की बेटी की तरफ से दिये गये आवेदन में कहा गया है कि सुरेंद्र कुमार, उनके बेटों और उनकी पत्नी अक्सर उनके साथ गाली-गलौच और मारपीट करते थे. उन्हें गंदे इशारे करते थे. उनकी 11 वर्षीय बहन को गलत नीयत से छूते थे. डर-डर कर उसने इस बात की जानकारी अपने माता-पिता को दी. सुरेंद्र कुमार का बड़ा बेटा जब भी रांची में रहता है वह महिला की बेटी पर भद्दे कमेंट करता था. और गंदे इशारे करता था.

इसे भी पढ़ें- गिरफ्तार पारा शिक्षक भेजे गए जेल, लगी आठ संगीन धाराएं, रांची के बाद दूसरे जिलों के पारा शिक्षक भी…

सुरेंद्र कुमार का छोटा बेटा दीवाली की रात उनके दरवाजे के सामने तेज आवाज वाले पटाखा जलाने की कोशिश कर रहा था. जिसे मना करने पर वे सभी मारपीट पर उतारू हो गये. वह अपना क्रिकेट बैट लेकर आया और महिला को मारने की कोशिश करने लगा. चीख-पुकार सुन कर बिल्डिंग में रहनेवाले अन्य लोग वहां जमा हो गये. उनकी वजह से ही मेरे माता-पिता की जान बच सकी. जब मैं इस घटना की रिकॉर्डिंग करने की कोशिश करने लगी तो सुरेंद्र कुमार और उसके बेटे ने मुझे रेप करने की धमकी दी और हाथ से गंदे-गंदे इशारे करने लगे. आवेदन में कहा गया है कि आरोपियों पर कार्रवाई कर उन्हें सुरक्षा दी जाये.

अनुसंधान के बाद होगी कार्रवाई

इस मामले में जब हटिया डीएसपी विनोद रवानी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मामले का अनुसंधान चल रहा है. डीएसपी विनोद रवानी ने कहा कि दोनों के बीच पहले से झगड़ा चल रहा था. इन सभी बातों को ध्यान में रखकर मामले का अनुसंधान किया जा रहा है. जांच के बाद ही कोई कार्रवाई की जाएगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: