BokaroJharkhandLead News

पानी पी रहें है ईटा भट्टा, तरस रहें है ग्रामीण, सरकारी पानी से फल-फूल रहा हैं ईंट भट्ठा अवैध कारोबार

Bokaro : बोकारो जिला के गोमिया के हजारी पंचायत में झारखंड पेयजल आपूर्ति योजना के तहत ग्रमीणों को पेयजल की पूर्ति के लिए करोड़ो की लागत से व्यवस्था की गयी है. एक ग्रामीण समिति बनाकर इसकी देखरेख जिमेदारी सौंपी गयी है.

लेकिन ग्रामीणों की अनुसार जिस बिल्ली को दूध की रखवाली को जिम्मा सौंपा वही दूध पीने लग गया. यानी जिस समिति को देखरेख का जिम्मा सौंपा गया, वही समिति ग्रामीणों को मिलने वाला पेयजल ईंट भट्ठा को दे दे रहा है.

इसे भी पढ़ें :बड़ी खबर : पूर्वी रेलवे जोन ने धनबाद से चलने वाली 16 ट्रेनें की रद्द, सात में नहीं चलेंगी ये ट्रेनें

जबकि इस तरह से ईंट भट्ठा का निर्माण अवैध माना जाता है. और जिन ग्रामीणो के लिए पानी की व्यवस्था की गई आज वे परेशानी की सामना कर रहे हैं.

पानी की समस्या से त्राहिमाम हो रहे हैं. पानी के लिए ग्रामीण सामूहिक रूप से आवेदन देकर न्याय की गुहार लगा रहे हैं. ग्रामपंचायत प्रतिनिधि को सारी बातों से अवगत कराया गया, पर निदान नहीं हो सका.

इसे भी पढ़ें :जानिए जड़ी-बूटियों से बनी दवा आयुष– 64 के बारे में, जिसे कोरोना के हल्के लक्षणों में सरकार ने बताया कारगर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: