न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इंजीनियर राकेश कुमार हत्याकांड :  हथियार के साथ एक अपराधी गिरफ्तार, अन्य की तलाश जारी

 गिरफ्तार हिमांशु दुबे ने पुलिस को बताया कि हत्या पलामू के एक ठेकेदार संजय पांडेय ने कराई थी.

283

 Ranchi : रातू रोड दुर्गा मंदिर के पीछे आर्यपुरी में 24 अगस्त को सुबह ऑटोमोबाइल इंजीनियर राकेश कुमार की हत्या के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. इस मामले में पुलिस ने हथियार के साथ आरोपी हिमांशु दुबे को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपी ने घटना में शामिल अन्य लोगों की संलिप्तता के बारे में जानकारी दी है. साथ ही बताया है कि उसकी हत्या के लिए पड़ोस में एक कमरा लिया गया था.  वहीं से एक महीने से रेकी की जा रही थी. उनके पास से दो पिस्टल, दो देसी कट्टे, दो मैगजीन सहित 15 गोली, और एक बैग बरामद किये गये हैं.

इसे भी पढ़ें: CM के विभाग में आरोपी अफसरों की लंबी लिस्ट, 68 IFS पर गंभीर आरोप, मांस की खरीद में भी खाया कमिशन, एक फरार घोषित

  पलामू के एक ठेकेदार ने कराई थी हत्या

गिरफ्तार हिमांशु दुबे ने पुलिस को बताया कि हत्या पलामू के एक ठेकेदार संजय पांडेय ने कराई थी. चूंकि राकेश का संबंध ठेकेदार की भतीजी से था. जो उसे नागवार गुजर रहा था. पुलिस इस घटना में शामिल अन्य अपराधियों की तलाश में छापेमारी कर रही है. पुलिस को जानकारी मिली है कि एक युवती की वजह से राकेश की हत्या कराई गयी थी.

  इसे भी पढ़ें : पुलिस महकमे के एक खास वर्ग का नौकरशाही में वर्चस्व, राष्ट्रपति से शिकायत

 24 अगस्त को की गयी थी हत्या

बता दें कि राकेश कुमार मूल रूप से पलामू के पाटन क्षेत्र निवासी ब्रहमोरिया का रहने वाला था. वह आर्यपुरी स्थित एक अपार्टमेंट में अपने भाइयों के साथ रहता था. वह स्कूटी से जा रहा था, तभी बाइक सवार अपराधियों ने उसकी गोली मार कर हत्या कर दी

इसे भी पढ़ेंःन्यूज विंग इंपैक्ट : निजी प्रैक्टिस करने वाले सरकारी डॉक्टरों पर कसेगा शिकंंजा

 3.50 लाख में सुपारी दी गयी थी

गिरफ्तार हिमांशु दुबे के अनुसार संजय पांडे ने राकेश की हत्या के लिए शूटरों से 3.50 लाख का सौदा तय किया था. राकेश को मारने लिए गढ़वा और उत्तर प्रदेश के शूटरों को बुलाया गया था. 24 अगस्त के सुबह 7:30 बजे पांचों शूटर दलादली चौक पहुंचे . दलादली  चौक के ललगुटवा  हाई स्कूल के पास अभियुक्तों ने हथियार छिपाने के लिए एक व्यक्ति के घर में किराये पर कमरा लिया था. शूटरों को पहुंचने से पहले दो अपाची बाइक तैयार रखी गयी थी.

उसके बाद वहां से सभी अभियुक्त बाइक और हथियार के साथ आर्यापुरी पहुंचे और राकेश के निकलने का इंतजार करने लगे. जैसे ही राकेश ऑफिस जाने के लिए निकला, उसे अभियुक्तों ने रोक लिया. अभियुक्तों को देखकर राकेश और उसका भाई निलेश भागने लगे. तब तक शूटरों ने राकेश को दबोच कर कई गोलियां मारी. फिर बाइक पर सवार हेाकर पॉपुलर नर्सिंग होम वाली गली से होते हुए ललगुटवा  पहुंचे जहां किराये पर लिये कमरे में सभी हथियार  छुपाकर रांची से बाहर भाग गये.

इसे भी पढ़ेंःजरूरत होगी तो करेंगे शिक्षकों की नियुक्ति, पैसा बर्बाद नहीं करेंगे : अशोक चौधरी

छापेमार दल में शामिल पुलिस की टीम : अजीत कुमार विमल पुलिस उपाधीक्षक कोतवाली, नवल किशोर सिंह सुखदेव नगर थाना प्रभारी, धर्मदेव चौधरी सुखदेव नगर थाना, अमित कुमार पासवान, संजय कुमार दास सहित अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: