न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खूंटी-चाईबासा सीमा क्षेत्र पर सीआरपीएफ और नक्सली के बीच मुठभेड़, एक नक्सली ढेर

867

Chaibasa: खूंटी-चाईबासा सीमा क्षेत्र पर शुक्रवार को सुरक्षाबल और पीएलएफआइ नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई. सीआरपीएफ के 94 बटालियन और राज्य पुलिस के द्वारा चलाये गये संयुक्त ऑपरेशन के दौरान पीएलएफआइ नक्सली के बीच खूंटी जिला के रनिया थाना क्षेत्र और चाईबासा जिला गुदरी थाना क्षेत्र के सीमावर्ती इलाके के थोलकोबेरा जंगल मे मुठभेड़ हुई.

दोनों ओर से हुई गोलीबारी में एक नक्सली को सुरक्षा बल ने मार गिराया. सुरक्षा बल को भारी पड़ता देख नक्सली घने जंगल का फायदा उठाकर भागने में सफल रहे.

इसे भी पढ़ेंःकेरल बारिश: कोच्चि एयरपोर्ट पर 11 अगस्त तक विमान परिचालन बंद

जवानों ने पीएलएफआइ नक्सलियों के तीन हथियार और कई मोबाइल फोन भी बरामद किये हैं. बता दें कि मारे गये नक्सली की पहचान अभी तक नहीं हुई है. सुरक्षा बल जंगल में नक्सलियों की धर-पकड़ के लिए लगातार सर्च अभियान चला रही है.

नक्सलियों की गतिविधि की सूचना पर हुई थी कार्रवाई

मिली जानकारी के अनुसार, खूंटी के रनिया थाना क्षेत्र और चाईबासा के गुदरी थाना क्षेत्र के सीमावर्ती इलाके के थोलकोबेरा जंगल में हाल के दिनों में पीएलएफआइ नक्सलियों के सक्रिय होने की सूचना पुलिस को मिल रही थी.

इसे भी पढ़ेंःराजधानी में बिना रूट पास के चल रहे 9 हजार ई-रिक्शा, 994 को मिले पास की वैलिडिटी आठ माह पहले खत्म

जिसके बाद शुक्रवार की सुबह राज्य पुलिस और सीआरपीएफ के द्वारा संयुक्त सर्च ऑपरेशन चलाया गया. जवानों को देखते ही पीएलएफआइ नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी.

सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की. जिसमें एक नक्सली को मार गिराया गया. बाकी हथियार और अन्य सामान छोड़कर भाग गये. मुठभेड़ के बाद सर्च ऑपरेशन में पुलिस को एक नक्सली शव बरामद हुआ. जिसकी पहचान नहीं हो पायी है. सुरक्षा बल पूरे जंगल को घेरकर ऑपरेशन चला रही है.

इसे भी पढ़ेंःबेरोजगारी बनी जानलेवा: टाटा मोटर से नौकरी छूटने पर इंजीनियर ने आत्मदाह कर लिया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
झारखंड की बदहाली के जिम्मेदार कौन ? भाजपा, झामुमो या कांग्रेस ? अपने विचार लिखें —
झारखंड पांच साल से भाजपा की सरकार है. रघुवर दास मुख्यमंत्री हैं. वह हर रोज चुनावी सभा में लोगों से कह रहें हैं: झामुमो-कांग्रेस बताये, राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन कह रहें हैं: 19 साल में 16 साल भाजपा सत्ता में रही. फिर भी राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
लिखने के लिये क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: