JamshedpurJharkhand

कोर्ट के फैसले से भावुक शुभम के पिता ने कहा- फैसले से संतुष्ट, लेकिन हत्यारे को फांसी होती तो तसल्ली मिलती

Jamshedpur : तीन साल के मासूम शुभम शौर्य के हत्यारे सगे मामा को अनिकेत उर्फ मुन्ना उर्फ आशुतोष को सोमवार को जमशेदपुर की कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनायी. कोर्ट का यह फैसला आते ही मासूम शुभम के पिता धर्मेंद्र मिश्रा का दर्द छलक आया.  भावुक पिता ने कहा कि कोर्ट के फैसले से वे संतुष्ट हैं, लेकिन हत्यारे को यदि फांसी की सजा मिलती तो उनके दिल को और तसल्ली मिलती. उन्होंने कहा कि बेटे की मौत के बाद से ही उनका जीवन अलग दिशा में चला गया था. उन्होंने कहा कि उनके लिए रिश्तों से ज्यादा अहम बेटे को इंसाफ दिलाना था. वे चाहते थे कि हत्यारे को हर हाल में सजा मिले. कोर्ट का फैसला आने के बाद उनके दिल को सुकून पहुंचा है.

Advt

बता दें कि कदमा थाना क्षेत्र के रामजनम नगर रोड नंबर 6 से दिसंबर 2018 को शुभम के अपहरण के बाद सरायकेला-खरसावां जिला के आरआईटी थाना क्षेत्र के प्लैटिना सिटी के समीप उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गयी थी. वह भी तब जब घटना के तीन दिन बाद ही शुभम का जन्मदिन था. उसकी मां शारदा और पिता धर्मेंद्र मिश्रा जन्मदिन को धूमधाम से मनाने की तैयारी में जुटे हुए थे. उसी बीच 12 दिसंबर 2018 की शाम आदित्यपुर आरआईटी क्षेत्र के बाबाकुटी का रहनेवाला अनिकेत अपनी बहन शारदा के घर पहुंचा था. उसन कुरकुरे खिलाने के बहाने शुभम को घर से लाया. उसके बाद पत्थर से कूचकर उसकी हत्या कर दी थी. इसके पहले उसने शुभम के हाथ और पैर तोड़ दिए थे. शव बरामद करने के साथ पुलिस ने घटनास्थल से खून से सना पत्थर और कपड़ा भी बरामद किया था. इस घटना से शहर ही नहीं, आस-पास के क्षेत्र में भी सनसनी फैल गई थी.

इसे भी पढ़ें – MLA फंड : 50 लाख की राशि पेयजल योजनाओं में खर्च करने की बाध्यता खत्म, ऐच्छिक रूप से कर सकेंगे खर्च

Advt

Related Articles

Back to top button