National

शर्मनाक: महिला के कंधे पर पति को बैठाकर गांव में पीटते हुए घुमवाया, सब बने रहे तमाशबीन

Jhabua (Madhya Pradesh) मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल झाबुआ जिले से एक शर्मनाक घटना सामने आई है. कथित प्रेम संबंध के शक पर एक आदिवासी महिला के ससुराल वालों ने उसे अमानवीय सजा दी. उन्होंने महिला के कंधे पर पति को बिठाकर मारपीट करते हुए पूरे गांव में घुमवाया. इस बीच सभी लोग तामाशा देखते रहे. किसी ने इसे रोकने की कोशिश भी नहीं की.

इसे भी पढ़ें- नहीं सुधर रहा चीन, पैंगॉन्ग झील के पास फिर बढ़ाई सेना, सैटलाइट में इमेज कैद

advt

पति समेत पांच आरोपी गिरफ्तार

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पीड़ित महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने कार्रवाई की और उसके पति सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो अरोपी अभी फरार है.

झाबुआ जिला मुख्यालय से करीब 15 किलोमीटर दूर झाबुआ कोतवाली अंतर्गत ग्राम छापरी रणवासा में मंगलवार को यह घटना हुई. बुधवार की रात इसका वीडियो वायरल हुआ था. जिसके बाद पुलिस ने इस मामले को लेकर कार्रवाई की और पीड़िता की रिपोर्ट दर्ज की.

गौरतलब है कि घटना का जो वीडियो वायरस हुआ है उसमें महिला के कंधे पर उसके पति को बिठाकर कुछ लोग उसे मारते हुए गांव में घुमवाते देखे जा सकते हैं. महिला के पीछे भीड़ भी है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड कांग्रेस के असंतोष की डोर दिल्ली दरबार तक दे चुकी है दस्तक

सभी आरोपी पीड़ित महिला के रिश्तेदार

झाबुआ जिले के पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता ने शुक्रवार को बताया कि सामाजिक कुरीतियों की वजह से यह घटना घटी है. घटना में सात आरोपी बनाये गये हैं. इनमें सभी पीड़ित महिला के रिश्तेदार हैं. उन्होंने कहा कि इन सभी आरोपियों के खिलाफ भादंवि की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

गुप्ता ने बताया कि महिला के पति बदिया सिंगाड के साथ दितू सिंगाड, झितरा सिंगाड, शंकर भाभर एवं भूरू सिंगाड को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन्होंने कहा कि महिला के जेठ कालिया और जेठानी धनी बाई अभी फरार हैं. पुलिस उनकी गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है.

गुप्ता ने बताया कि पीड़ित युवती की शादी तीन साल पहले छापरी रणवासा के बदिया नाम के युवक से हुई थी. गुप्ता ने बताया कि पीड़ित महिला द्वारा बुधवार की रात झाबुआ कोतवाली पर मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई गयी.

इसे भी पढ़ें- डॉक्टर की सैलरी को लकर SC ने दिल्ली,महाराष्ट्र समेत चार राज्यों को लगाई फटकार, केंद्र से भी मांगी जानकारी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: