Lead NewsNationalNEWSWest Bengal

शर्मनाकः बंगाल चुनावी हिंसा का दौर जारी, भाजपा की दो महिला पोलिंग एजेंट के साथ सामूहिक दुष्कर्म

कैलास विजयवर्गीय का दावा, अब तक नौ भाजपा कार्याकर्ताओं की हो चुकी है हत्या

Kolkata: तृणमूल कांग्रेस की प्रचंड जीत के बाद से बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने का दौर जारी है. पार्टी आफिस में हमला, कार्यकर्ताओं की हत्या के साथ ही महिलाओं के साथ दुष्कर्म भी हो रहे हैं. बंगाल भाजपा ने बयान जारी किया है कि बीरभूम जिले के नानूर से भाजपा उम्मीदवार तारक साहा की पोलिंग एजेंट बनीं दो महिला कार्यकर्ताओं से तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया है.

 

इस आशय का बयान भाजपा ने अपने आधिकारिक व्हाट्स एप ग्रुप में शेयर किया है, जिसमें बताया गया है कि विधानसभा क्षेत्र के 12 गांवों में भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं के साथ शारीरिक उत्पीड़न और यौन शोषण की घटनाएं लगातार हो रही हैं. प्रदेश भाजपा के प्रभारी और अंतरराष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि एक दिन में नौ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं-कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतारा गया है. इनमें से बेलियाघाटा के अभिजीत सरकार और सोनारपुर के हारन को बर्बर तरीके से पीट-पीट कर मौत के घाट उतारा गया है.

 

advt

मालूम हो कि बंगाल में जीत के साथ ही भाजपा कार्यालयों पर हमले का दौर शुरू हो गया था. भाजपा के विधायक सुवेंदु अधिकारी पर भी पथराव किया गया. राज्य के विभिन्न हिस्सों से हिंसा की खबरें लगातार आ रही है. इस मामले पर केंद्र सरकार ने संज्ञान लिया है. गृह मंत्रालय ने राज्य  सरकार से विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं पर हुए हमले की पूरी जानकारी सौंपने बात कही है.

 

इधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि चुनाव के बाद बंगाल में शुरू हुई हिंसा में बीते 24 घंटे में अब तक 9 लोगों की मौत हुई है.भाजपा नेता दिलीप घोष ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भय और दहशत का माहौल है. पुलिस पर निष्क्रिय होने का आरोप लगाया गया है.

 

हालांकि, एक दिन पूर्व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनर्जी ने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है. इसके साथ ही आरोप लगाया है कि केंद्रीय बलों ने चुनावों के दौरान टीएमसी समर्थकों पर काफी अत्याचार किए हैं.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: