GiridihJharkhand

गिरिडीह के बगोदर में दूसरे दिन भी हाथियों ने मचाया तांडव

Giridih: गिरिडीह के बगोदर में दूसरे दिन भी हाथियों का आतंक जारी रहा. शनिवार की अहले सुबह मुंडरो पंचायत के दीप नगर व पैसरा में तीन-चार घंटे हाथियों ने उत्पात मचाया. हाथियों ने एक एकड़ में लगी आधा दर्जन से अधिक किसानों की आलू, धान, प्याज का पौधा, व अरहर की फसल को रौंद कर बर्बाद कर दिया. साथ ही ग्रामीणों के द्वारा लगाये  पेड़-पौधों को भी नष्ट कर दिया. हाथियों का झुंड शुक्रवार की रात्रि नौ बजे मुंडरो के विहारो गम्हरिया से  बखरीडीह गांव की ओर से घुसा और दीपनगर व पैसरा के किसानों की फसल को रौंदते हुए धवैया अडवारा जंगल की ओर चला गया. ग्रामीणों को हाथियों के झुंड के गांव में घुसने की जानकारी रात में ही हो गयी थी. इससे ग्रामीण  भयभीत रहे. हाथियों के झुंड ने  रामटहल महतो, कौशल्या देवी, हेमलाल महतो, रूपलाल महतो, सुनील महतो, हीरालाल महतो, मिथलेश राणा व भुनशेवर महतो की फसलों को नुकसान पहुंचाया.

ग्रामीणों ने बताया 22 की संख्या में हाथियों का झुंड गांव में घुसा और फसलों को रौद दिया. सूचना मिलने पर वनरक्षी डिलो रविदास शनिवार की सुबह  गांव पहुंचे. किसानों की फसलों के हुए नुकसान का जायजा लिया. उन्होंने पीड़ित किसानों से कहा कि नुकसान का ब्यौरा आवेदन में दें. उसी के आधार पर आकलन के बाद मुआवजे की राशि दिलायी जायेगी. इधर मामले की जानकारी मिलने पर  मुखिया बंधन महतो, पंसस कोलेश्वर  मंडल, जगदीश प्रसाद, मनोहर सिंह, शंकर महतो, प्रकाश महतो, पुरन महतो ने भी फसलों के हुए नुकसान के लिए वन विभाग से मुआवजे की मांग की है.

इसे भी पढ़ें – Palamu : गर्म माड़ से भरे टब में गिरने से गंभीर रूप से जली दोनों बच्चियां भेजी गयीं रिम्स, उपायुक्त ने दिये 50 हजार

Related Articles

Back to top button