न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सिक्का खनका, इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद भी चमके, पलामू में धनतेरस पर 10 करोड़ से ज्यादा का कारोबार

47

Palamu : धनतेरस को लेकर सोमवार को बाजार की रौनक परवान पर रही. इस दौरान सोने-चांदी के जेवरात समेत बर्तन व इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों की लोगों ने जम कर खरीदारी की. ज्वेलरी दुकानों में जहां सिक्के की खनक बरकरार रही, वहीं पीली धातु व डायमंड की मांग भी ज्यादा देखने को मिली. सुबह के दस बजे के बाद से ही बाजार में खरीदारों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी. धनतेरस बाजार को कैश करने के लिए कारोबारियों ने भी अपनी दुकानों को दुल्हन की तरह सजा रखा था. धनतेरस पर पलामू में 10 करोड़ से ज्यादा के कारोबार होने का अनुमान है.

इसे भी पढ़ें –धनतेरस पर बाबूलाल मरांडी ने रघुवर सरकार पर फोड़ा 5000 करोड़ का बम

महंगाई के बावजूद चमका ज्वेलरी बाजार

भारी महंगाई के बावजूद लोगों का पीली धातु और डायमंड के प्रति रुझान देखा गया. ज्वेलरी दुकानों में मुख्य आकर्षण सौ प्रतिशत चांदी निर्मित बर्तन व ब्लू स्टोन डायमंड ज्वेलरी की रही. लोगों ने अपनी क्षमता के अनुरूप इसकी खरीदारी की. धनतेरस पर सोना 22 कैरेट 3140 प्रति ग्राम रहा, वहीं हॉलमार्क 2840 प्रति ग्राम बेचा गया. जबकि चांदी 38,000 रुपए प्रति किलो के भाव बिक रही थी. वहीं चांदी का पुराना सिक्का ₹900 जबकि नया ₹500 के भाव बेचे गया.

पिछले साल की तुलना सोने चांदी के भाव में बढ़ोतरी हुई है. बावजूद लोगों का उत्साह इसके प्रति कम नहीं हुआ है. कमोबेश यही हाल इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों का भी देखा गया. एलइडी टीवी, वाशिंग मशीन, मिक्सी समेत अन्य उत्पादों की लोगों ने जम कर खरीदारी की. धनतेरस पर बर्तन बाजार में भी रौनक बरकरार रही. बर्तन दुकानों में भी स्टील बर्तन की तुलना में पीतल और कांसा के निर्मित बर्तन पर लोगों का रुझान ज्यादा देखने को मिला. इसमें पूजा के बर्तन की खरीदारी लोगों ने ज्यादा की. धनतेरस पर झाड़ू की भी रिकॉर्ड बिक्री हुई.

इसे भी पढ़ें –पलामू : पांच दिनों तक चलने वाला दीवाली महोत्सव शुरू, धनतेरस पर गुलजार हुआ बाजार

वाहनों का कारोबार भी बेहतर

उधर धनतेरस पर दो पहिया वाहन से लेकर चार पहिया वाहन तक के कारोबारी संकेत भी बेहतर माने जा रहे हैं. धनतेरस बाजार अन्य वर्षों की तुलना इस वर्ष बेहतर कारोबार की ओर अग्रसर है. धनतेरस पर बेहतर कारोबार होने से व्यवसायियों के चेहरे भी खिल उठे हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: