न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जम्मू कश्मीर में चुनाव छह महीने के भीतर करा लिये जायेंगे : मुख्य निर्वाचन आयुक्त

आयोग ने अगले साल होने वाले लोकसभा के चुनाव के साथ जम्मू कश्मीर विधानसभा के चुनाव कराये जाने की संभावना से इनकार नहीं किया

15

NewDelhi :  जम्मू कश्मीर में चुनाव छह महीने के भीतर कराये जायेंगे. चुनाव आयोग ने गुरुवार को यह जानकारी दी. साथ ही आयोग ने अगले साल होने वाले लोकसभा के चुनाव के साथ जम्मू कश्मीर विधानसभा के चुनाव कराये जाने की संभावना से इनकार नहीं किया. बता दें कि मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव मई से पहले करवाये जाने चाहिए. कहा कि सुप्रीम कोर्ट के अनुसार सदन भंग किये जाने के छह माह की सीमा के भीतर चुनाव करवाने चाहिए. यह अवधि मई 2019 तक की है.  रावत  ने इस क्रम में स्पष्ट किया कि आयोग सभी पहलुओं पर विचार कर चुनाव की तिथियों की घोषणा करेगा. इस संबंध में मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला राष्ट्रपति द्वारा मांगी गयी राय पर आया था.  कहा कि तेलंगाना पर भी यही सिद्धान्त लागू होता है जहां विधानसभा को समय से पहले ही भंग कर दिया गया.

 उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बुधवार देर शाम राज्य विधानसभा को भंग कर दिया था. इससे कुछ ही घंटे पहले पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की महबूबा मुफ्ती सईद ने नेशनल कांफ्रेंस और कांग्रेस के सहयोग से सरकार बनाने का दावा राज्यपाल के समक्ष पेश किया था. उन्होंने 87 सदस्यीय विधानसभा में 56 विधायकों के समर्थन का दावा करते हुए राज्यपाल से मौका देने को कहा था. इस घटनाक्रम के बाद पीपुल्स कांफ्रेंस नेता सज्जाद लोन ने भी सरकार बनाने का दावा पेश किया था. उन्होंने भाजपा के 25 और 18 से अधिक अन्य विधायकों का समर्थन होने का दावा किया था. 

silk_park

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: