JharkhandRanchi

चुनावी साल है, कार्यदिवस कम, प्राथमिकता तय कर करें कामः मुख्य सचिव

  • अभी से तैयारी कर लें, आचार संहिता खत्म होते ही विकास कार्य शुरू करें
  • योजना प्राधिकृत समिcgति को 27 से 31 तक रोजाना बैठक करने का निर्देश
  • सभी आइएएस अफसर इस साल अनिवार्य रूप से पौधरोपण करें
  • मुख्यमंत्री की कुल 109 घोषणाओं पर अब तक हुई कार्य प्रगति की समीक्षा की

Ranchi: मुख्य सचिव डॉ. डीके तिवारी ने सभी विभागों के सचिवों को आम जन से जुड़े पंचायती राज के कार्य, पेंशन, छात्रवृत्ति, पानी, बिजली, स्ट्रीट लाइट सहित अन्य कार्यों पर फोकस करने का निर्देश दिया है. कार्यों के कार्यान्वयन की मॉनिटरिंग के लिए अनिवार्य रूप से साप्ताहिक और मासिक बैठक करने को कहा. उन्होंने कहा कि लोकसभा और विधानसभा चुनावों के कारण कार्यदिवस कम हो जायेंगे. इस स्थित में सभी विभाग प्राथमिकता तय कर काम करें. टॉप फाइव या टॉप टेन में प्राथमिकता समाहित करें और आचार संहिता खत्म होने के पहले योजना कार्यान्वयन की मुकम्मल तैयारी कर लें.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह लोकसभाः क्या केले को भेद सकेगा तीर

योजना प्राधिकृत समिति की बैठक 27 से 31 मई तक

मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि योजना प्राधिकृत समिति की बैठक लगातार 27 से 31 मई तक होगी. उसमें सभी विभागों की योजनाओं के कार्यान्वयन की तैयारी की समीक्षा होगी. सीएस मंगलवार को प्रोजेक्ट भवन में सभी विभागों के सचिवों के साथ 2019-20 के बजट भाषण में मुख्यमंत्री की कुल 109 घोषणाओं पर अमल की तैयारी की समीक्षा कर रहे थे. उन्होंने सभी सचिवों को निर्देश दिया कि वे अपने-अपने विभाग की उपलब्धियों, किये जा रहे कार्यों की प्रगति की संक्षिप्त बुकलेट बनायें. राज्य में आनेवाले भारत सरकार के प्रतिनिधियों और अन्य डेलिगेशन को बुके के साथ वह बुकलेट भी दें. इससे राज्य की हो रही प्रगति और विभागों के सकारात्मक कार्यों का संदेश भी दूर-दूर तक जायेगा. साथ ही प्रगतिशील राज्य का इमेज बनेगा.

advt

इसे भी पढ़ें – धनबादः राहुल गांधी ने कीर्ति झा आजाद के समर्थन में किया रोड शो, राहुल संग सेल्फी के लिए उमड़े युवा, देखें वीडियो

सभी अफसर महीने में एक से दो बार फील्ड में जायें

मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि सभी अधिकारी माह में एक से दो बार फील्ड में जरूर जायें. मौके पर समीक्षा करें. समस्या हो तो निदान करें और कनीय लोगों को आवश्यक दिशा-निर्देश दें. बैठकें महत्वपूर्ण होती हैं, लेकिन फील्ड में जाकर कार्य करना उससे भी अधिक महत्वपूर्ण होता है. उन्होंने कमिशनरी, जिला, अनुमंडल व प्रखंडों में अच्छा काम कर रहे कर्मियों को पुरस्कृत करने का भी निर्देश दिया. नये भवन निर्माण की जगह खाली पड़े भवनों के उपयोग पर जोर देते हुए कहा कि सभी विभाग अपने-अपने उपयोगी व अनुपयोगी भवनों को चिह्नित कर डेटाबेस तैयार करें.

इसे भी पढ़ें – संथालपरगना में है भाजपा की नजर, झामुमो का है मजबूत आधार

आचार संहिता खत्म होते ही शिक्षकों को नियुक्ति पत्र दें

मुख्य सचिव ने सफल शिक्षक अभ्यर्थियों को आचार संहिता खत्म होते संबंधित विभाग को नियुक्ति पत्र देने का निर्देश दिया. पर्यटन विभाग को पूरे राज्य में म्यूजिकल बैंड का सालाना फेस्टिवल आयोजन करने का निर्देश दिया. कहा, इस क्षेत्र में राज्य पांच वर्षों में देश में अव्वल बन सकता है. साथ ही स्थानीय प्रतिभा को उभरने का मौका भी मिलेगा. परिवहन विभाग की इंस्टीट्यूट ऑफ ड्राइविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च की योजना के तहत कुशल ड्राइवर तैयार करने की बात कही. कहा कि हर साल लगभग एक हजार ड्राइवरों को अच्छे पैकेज पर दुबई में काम के अवसर हैं.

adv

इसे भी पढ़ें – आनेवाले पांच दिनों में दो से तीन डिग्री बढ़ेगा तापमान, मेदिनीनगर में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस होने की संभावना

गीजर के लिए सोलर पैनल लगाने का निर्देश

कर्नाटक और दिल्ली का उदाहरण देते हुए झारखंड में भी गीजर के लिए सोलर पैनल लगाने को अनिवार्य करने का निर्देश दिया. इसे नक्शा पास करने के समय ही सुनिश्चित करने को कहा. वन विभाग को निर्देश दिया कि ग्रामीण इलाके के साथ शहरी क्षेत्र को भी हरा-भरा करने पर फोकस करें. सभी नदी, नाले, जलाशय, मैदान और पहाड़ियों पर पौधरोपण करायें. रांची के जयपाल सिंह स्टेडियम में भी बिना कोई निर्माण किए एक हरित क्षेत्र व पार्क का विकास करने का निर्देश दिया. सभी आइएएस अधिकारी भी इस वर्ष अनिवार्य रूप से पौधरोपण करें. वन क्षेत्र में इको टूरिज्म को बढ़ावा देने का भी निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें – कोडरमा लोकसभाः वज्रगृह के बजाय कलस्टरों में रातभर रखी गयीं 139 ईवीएम मशीनें, सवालों के घेरे में आया प्रशासन  

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button