न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तीसरे चरण का चुनावः चाईबासा में नक्सलियों की फायरिंग, धनबाद में कैश के साथ चार गिरफ्तार, जमशेदपुर में चंपई के बेटे पर पुलिसिया कार्रवाई

eidbanner
2,787

Ranchi:  राज्य के चार संसदीय सीटों में तीसरे चरण का चुनाव रविवार को हुआ. गिरिडीह, धनबाद, जमशेदपुर और चाईबासा संसदीय क्षेत्र के 8581 मतदान केंद्र पर छिटपुट घटनाओं को छोड़कर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ.

मतदान केंद्रों पर मतदान करने के लिए वोटरों की लंबी कतारें सुबह से लगी थीं. रविवार को वोट के लिए नियत समय 7 बजे से करीब एक घंटे पहले ही बड़ी संख्‍या में मतदाता वोट डालने बूथों पर पहुंच गये थे. मतदान को लेकर लोगों में खासा उत्साह देखा जा रहा था.

नक्सलियों के गढ़ में भी लोगों ने उत्साह के साथ मतदान किया. चारों में लोकसभा सीटों पर शाम पांच बजे तक 60.30 प्रतिशत मतदान होने की सूचना है.

इसे भी पढ़ेंः सपा-बसपा गली के गुंडों को नहीं रोक सकते, आतंकवाद पर क्या रोक लगायेंगे : मोदी

 दहशत फैलाने के उद्देश्य से नक्सलियों ने की फायरिंग

चाईबासा जिले के गोईलकेरा इलाके में नक्सलियों ने फायरिंग कर दहशत फैलाने की कोशिश की. यहां एक मतदान केंद्र के समीप तीन राउंड फायरिंग की गयी. हालांकि, इससे मतदान पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा.

पुलिस ने सूचना मिलते ही मोर्चा संभाला और जवाबी फायरिंग की. फायरिंग गोईलकेरा के नरसंडा में की गयी. यहां स्कूल पर मतदान केंद्र था. स्कूल चौकीबुरू पहाड़ के समीप था.

इसी पहाड़ से नक्सलियों के द्वारा फायरिंग की गयी. वहीं मिली जानकारी के अनुसार धनबाद में निर्दलीय प्रत्‍याशी सिद्धार्थ गौतम के प्रचार वाहन में करीब डेढ़ लाख रुपये नकद के साथ चार लोगों के पकड़े जाने की सूचना है.

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह : विस्फोटक ब्लास्ट होने से पिता-पुत्र समेत तीन की मौत

चंपई सोरेन के बेटे को पुलिस ने किया गिरफ्तार

जमशेदपुर के झामुमो उम्‍मीदवार चंपई सोरेन के बेटे बाबूलाल सोरेन को पुलिस ने आदर्श आचार संहिता उल्‍लंघन के मामले में धालभूमगढ़ से गिरफ्तार किया वही जमशेदपुर के जुगसलाई के सेंट जॉन स्कूल बूथ पर दो गुटों में मारपीट हो गयी. जिसके बाद बूथ पर तैनान जवानों ने बल प्रयोग किया.

दो पक्षों के बीच मारपीट के बाद तनाव की स्थिति पैदा हो गयी. जिसके बाद रैफ और पुलिस के जवान स्थिति को कंट्रोल करने में जुटे और लाठीचार्ज किया गया. आंसू गैस के गोले छोड़े गये हैं. लोगों की पत्थरबाजी में रैफ का एक जवान घायल हो गया.

संवेदनशील मतदान केंद्रों में केंद्रीय अर्धसैनिक बल की हुई तैनाती

चुनाव को शांतिपूर्ण कराने के लिए संवेदनशील बूथों पर केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवानों की तैनाती की गयी.

झारखंड में तीसरे चरण में होनेवाले मतदान को लेकर 175 कंपनी केंद्रीय अर्धसैनिक बल, 52 कंपनी राज्य पुलिस, 20375 के लगभग जिला पुलिस और 5972 के लगभग पुलिस अफसरों को तैनात किया गया था.

इसे भी पढ़ेंः सपा-बसपा गली के गुंडों को नहीं रोक सकते, आतंकवाद पर क्या रोक लगायेंगे : मोदी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: